ब्रेकिंग न्यूज़

बढ़ेगा लॉकडाउन या होगा खत्म? आज रात 8 बजे PM मोदी 12वीं बार करेंगे देश को संबोधित

पीएम मोदी आज रात 8 बजे देश की जनता को संबोधित करेंगे। कोरोना वैश्विक महामारी संकट के बीच प्रधानमंत्री चौथी बार संबोधित करने जा रहे हैं। ऐसे में ये कयास लगाए जा रहे हैं कि पीएम मोदी लॉकडाउन बढ़ाने या हटाने को लेकर कुछ बड़े फैसले कर सकते हैं। सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम की बैठक सोमवार को हुई थी। इस बैठक में पीएम मोदी ने लॉकडाउन को लेकर सभी राज्यों से राय मांगी है। पीएम ने कहा है कि सभी मुख्यमंत्री 15 मई तक अपने अपने सुझाव दें। याद दिला दें कि देशव्यापी लॉकडाउन का तीसरा चरण 17 मई को खत्म होने वाला है।

आपको बता दें कि कोरोना संकट के बीच मुख्यमंत्रियों के साथ पीएम की ये पांचवीं बैठक थी। वहीं पीएम मोदी अब तक अपने कार्यकाल में देश को 11 बार संबोधित कर चुके हैं। आज पीएम 12वीं बार देश को संबोधित करेंगे।

प्रधानमंत्री मोदी का देश के नाम अब तक के सभी संबोधन

पहला संबोधन नोटबंदी की घोषणा

पीएम मोदी ने 8 नवंबर 2016 को पहली बार देश को संबोधित किया था और कालेधन पर लगाम लगाने के लिए 500 और 1000 के नोटों को बंद करने जैसा ऐतिहासिक फैसला लिया था। पीएम ने इस संबोधन में कहा था कि आज रात 12 बजे के बाद से 500 और 1000 के नोट लीगल टेंडर नहीं रहेंगे।

दूसरा संबोधन

वर्ष 2016 के अंतिम दिन यानी 31 दिसंबर को पीएम ने देश के नाम दूसरा संबोधन किया। इस दौरान पीएम ने नोटबंदी और काले धन पर चर्चा की और कहा कि देश के सभी बैंक गरीबों के हित को ध्यान में रखकर काम करें और कोई भी फैसला लेने से पहले लोकहित के बारे में सोचें।

तीसरा संबोधन

15 फरवरी 2019 को पीएम ने पुलवामा हमले पर बात की थी। पीएम ने कहा था कि मैं लोगों के भावनाओं और गुस्से को समझता हूँ।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि हमने अपने सभी सुरक्षाबलों को पूरी छूट दी है और हमें अपने सैनिकों के शौर्य पर पूरा भरोसा है।

चौथा संबोधन

पीएम मोदी का चौथा संबोधन 27 मार्च 2019 को हुआ। पीएम मोदी ने देश के नाम संबोधन में कहा कि हमारे वैज्ञानिकों ने अंतरिक्ष में 300 किमी दूर पृथ्वी की निचली कक्षा (एलईओ) में एक लाइव सेटेलाइट को मार गिराया है। इस मौके पर उन्होंने सभी देशवासियों को बधाई दी थी।

पांचवां संबोधन

जम्मू कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने पर पीएम मोदी ने 8 अगस्त 2019 को देश की जनता को संबोधित किया। उन्होंने कहा था कि हमने जम्मू कश्मीर के युवाओं को राज्य के एक खूबसूरत कल का ख्वाब दिखाया। इस संबोधन में पीएम ने कहा था कि जम्मू कश्मीर के युवाओं को मुख्य धारा में जोड़ना हमारा प्रमुख लक्ष्य रहेगा।

छठवां संबोधन

7 सितंबर 2019 को पीएम ने देश के नाम छठा संबोधन किया। ये मौका तब था, जब चंद्रयान 2 का संपर्क चांद पर उतरने से कुछ ही सेकेंड पहले टूट गया था। इस संबोधन में पीएम ने सभी वैज्ञानिकों का हौसला बढ़ाया था। पीएम का यह संबोधन इसरो के कंट्रोल रूम से हुआ।

सातवां संबोधन

अयोध्या विवाद और पंजाब में करतारपुर कॉरिडोर की चर्चा करते हुए पीएम नरेंद्र मोदी ने देश को सातवीं बार संबोधित किया। 9 नवंबर 2019 को किए गए अपने संबोधन में उन्होंने देश की जनता से कहा कि शांति सौहार्द्र और सद्भाव का महौल बनाएं रखें।

आठवां संबोधन

19 मार्च 2020 को रात 8 बजे पीएम नरेंद्र मोदी ने देशवासियों को आठवीं बार संबोधित किया। पीएम ने कोरोना वायरस को लेकर देश को संबोधित करते हुए 22 मार्च रविवार को जनता कर्फ्यू का आह्वान किया। साथ ही उन्होंने 22 मार्च को शाम पांच बजे, पांच मिनट तक कोरोना वॉरियर्स के लिए ताली थाली बजाकर धन्यवाद अर्पित करने को कहा।

नौवां संबोधन

कोरोना संकट के बीच उन्होंने 24 मार्च को दोबारा संबोधित किया। देश के नाम ये उनका नौंवा संबोधन था। अपने संबोधन में उन्होंने देशवासियों से कुछ समय मांगा। इस संबोधन में उन्होंने 25 मार्च से 14 अप्रैल तक 21 दिनों के लिए लॉकडाउन की घोषणा की।

दसवां संबोधन

कोरोना संकट के बीच पीएम का तीसरा संबोधन था। अपने इस संबोधन में उन्होंने देशवासियों से अपील की कि रात नौ बजे नौ मिनट के लिए घर की सभी लाइट बंद करके छत या बालकनी में दिए जलाएं। पीएम ने कहा कि हम प्रकाश की ताकत से कोरोना के अंधकार को मिटाएंगे।

ग्यारहवां संबोधन

पीएम मोदी ने 14 अप्रैल को देशवासियों को 11 वीं बार संबोधित किया और कहा कि हम सभी को कोरोना के इस संकट में सहयोग देना होगा और 3 मई तक लॉकडाउन में ही रहना है। यानी लॉकडाउन की अवधि 19 दिनों के लिए बढ़ा दी गई।

Back to top button