विशेष

कोरोना में RSS की सेवा: 67 हजार स्थानों पर 3.42 लाख सेवकों ने बांटे 3 करोड़ फ़ूड पैकेट्स

कोरोना वायरस (Corona Virus) और लॉकडाउन (Lockdown) की वजह से इस समय पूरा देश बुरे हालातों से होकर गुजर रहा हैं. लोगो को इस दौरान खाने पिने से लेकर अन्य दिक्कतों का सामना भी करना पड़ रहा हैं. ऐसे में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (Rashtriya Swayamsevak Sangh) यानी RSS जरूरतमंदों की मदद करने के लिए आगे आया हैं. आरएसएस ने इस दौरान उन लोगो की मदद की जो भारत में अलग अलग हिस्सों में घर से दूर फंसे हुए हैं. इनमे से कईयों के पास खाने पिने का सामान तक नहीं हैं. इनकी भूख मिटाने के लिए आरएसएस सेवक बड़ी संख्या में मदद को आगे आए हैं.

कोरोना महामारी में RSS की Covid-19 सेवा

दरअसल RSS ने हाल ही में अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर कुछ डेटा शेयर किया हैं. इसमें आरएसएस स्वयंसेवकों द्वारा किये गए राहत कार्य को डिटेल में बाताया गया हैं. इस दौरान RSS ने अपने 3,42,000 स्वयंसेवकों को जरूरतमंदों की सेवा के लिए तैनात किया था. कोरोना महामारी के दौरान संस्था ने 67,000 लोकेशन पर अपनी सेवाएं दी हैं. इन जगहों पर RSS कार्यकर्ताओं ने 50 लाख परिवारों को राशन सामग्री बांटी जबकि 3 करोड़ लोगो में खाने के पैकेट्स आवंटित किए. इसके साथ ही RSS ने गरीब लोगो में 44 लाख फेस मास्क भी बांटे. इतना ही नहीं इन आरएसएस कार्यकर्ताओ ने ब्लड डोनेशन अभियान में भी हिस्सा लिया. यह डेटा 2 मई 2020 तक का हैं. अपने इस कार्य को RSS ने’ कोविड-19 सेवा’ नाम दिया हैं.

मुंबई में चली अन्नपूर्णा योजना

अप्रैल में मुंबई शहर में रोजाना एक लाख लोगो को खाना खिलाया गया था. संस्था ने मुंबई में इस बड़े राहत कार्य को जनकल्याण समिति (Janakalyan Samiti) सेवा और पर्यावरण विंग की केशव सृष्टि माय ग्रीन सोसाइटी ( Keshav Srushti My Green Society) की मदद से अंजाम दिया था. इस ऑपरेशन को ‘अन्नपूर्ण योजना’ नाम दिया गया था. यह योजना BMC (BrihanMumbai Municipal Corporation) के 24 वार्डों में चलाई गई थी. इस दौरान 1.2 लाख लोगो को दोनों टाइम गरम गरम खाना परोसा गया था. इस भोजन को समुदाय की 17 रसोइयों में तैयार किया गया था.

BMC इन रसोइयों से रोजाना 40 हजार फ़ूड पैकेट्स कलेक्ट करती थी. इसके बाद इस खाने को BMC स्टाफ, मेडिकल स्टाफ, इमरजेंसी सर्विस देने वाली पुलिस, बेघर लोगो, मजदूरों और प्रवासियों में बांटा जाता था. इसके अलावा पिछले महीने संस्था ने अपने राहत कार्य ऑपरेशन के दौरान जरूरी खाद्य सामग्रियां जरूरतमंद लोगो में बांटी थी. आरएसएस के इस नेक काम की अब सोशल मीडिया पर बहुत तारीफ़ भी हो रही हैं.

गौरतलब हैं कि देश में 25 मार्च से ही लॉकडाउन चल रहा हैं. चुकी लॉकडाउन में अधिकतर दुकाने और जॉब वर्क बंद हैं इसलिए लोगो को अपनी दैनिक दिनचर्या चलाने में भी दिक्कत हो रही हैं. खासकर घर से दूर दुसरे राज्य में फंसे लोग और गरीब वर्ग को खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा हैं. फिलहाल देश में लॉकडाउन को 17 मई तक के लिए बड़ा दिया गया हैं.

Back to top button
?>