बॉलीवुड

इरफान के जाने के बाद पत्नी सुतापा को सता रही ये बात, कहा- उन्होंने मुझे जिंदगी भर के लिए ..

इरफान खान पिछले दो सालों से ब्रेन कैंसर से जूझ रहे थे.कुछ महीने लंदन में रहकर उन्होंने अपना इलाज करवाया था

बॉलीवुड जग्गत में अभी सन्नाटा पसरा हुआ है, क्योंकि हाल ही में एक के बाद एक भारतीय सिनेमा के दो बड़े दिग्गज ने दुनिया को अलविदा कह दिया है. इरफान खान के निधन की खबर से लोग निकल ही नहीं पाए थे कि ऋषि कपूर के निधन की ख़बरों ने सही को झकझोर कर रख दिया. संजोग की बात है कि दोनों ही एक्टर कैंसर जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे थे और दोनों का ही निधन इसी के चलते हुआ. ये कहना गलत नहीं होगा कि यह साल फिल्म इंडस्ट्री के लिए कुछ अच्छा नहीं है.

बात करें इरफान खान की ती वह पिछले दो सालों से दुर्लभ किस्म के ब्रेन कैंसर से जूझ रहे थे. पहले लंदन में कुछ महीने रहकर उन्होंने अपना इलाज करवाया और बाद में भारत लौट आये. जब इरफान वापस भारत लौटे तो लगा सब कुछ ठीक हो गया है, लेकिन अचानक हुई उनकी मौत ने सभी को हैरान कर दिया. बता दें, मुंबई के कोकिलाबेन अस्पताल में 29 अप्रैल को उन्होंने अपनी आखिरी सांस ली. इरफान मात्र 54 साल की उम्र में दुनिया छोड़ गए.

ढाल बनकर खड़ी रहीं पत्नी

बता दें, पूरी बीमारी के दौरान इरफान की पत्नी सुतापा सिकदर हमेशा उनके साथ ढाल बनकर खड़ी रहीं. उन्होंने एक पल के लिए भी इरफान को अकेला नहीं छोड़ा. शायद यही वजह थी कि इरफान ने कहा था- मौका मिलने पर वे अपनी पत्नी के लिए जीना चाहते हैं. इरफान के जाने से मानो उनके परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है. इरफान के दो बेटे भी हैं जिनका नाम बाबिल और अयान है. इरफान के जाने से फैंस कितने दुखी हैं इस बात का अंदाजा सोशल मीडिया पर लोगों के कमेंट्स से लगाया जा सकता है. साथ ही वे इरफान की फैमिली को भी सांत्वना दे रहे हैं.

परिवार ने जारी किया बयान


इसी बीच इरफान की पत्नी और बेटों ने एक बयान जारी किया है. इस स्टेटमेंट में परिवार ने फैंस के सपोर्ट के साथ-साथ इरफान खान से जुड़ी कई यादों को ताज़ा किया है. इस बयान में लिखा गया है, “हम ये कैसे कह सकते हैं कि ये फैमिली स्टेटमेंट है जब पूरी दुनिया इसे निजी क्षति की तरह देख रही है? मैं कैसे अकेला महसूस करूं जब करोड़ों लोग हमारे साथ दुख मना रहे हैं? मैं सभी को ये बता देना चाहती हूं कि ये क्षति नहीं है, ये पाना है, ये पाना है उन सभी चीजों का जो उन्होंने हमें सिखाई हैं और अब इन सब बातों पर अमल करना और उसके जरिए आगे बढ़ना सीखेंगे. मैं उन चीजों की भरपाई करना चाहती हूं जिनके बारे में लोगों को अभी तक पता नही है”.

जिंदगी भर के लिए मुझे बिगाड़ दिया- सुतापा

इसमें आगे लिखा है, “ये हमारे लिए अविश्वसनीय है लेकिन मैं इरफान के शब्दों में कहूंगी, ‘ये अद्भुद है’ चाहे वो यहां हो या नहीं, वो यही सब पसंद करते थे. उन्हें कभी एक आयामी से सच्चाई से प्यार नहीं था”. सुतापा लिखती हैं, “मेरी उनसे सिर्फ यही शिकायत है कि उन्होंने मुझे जिंदगी भर के लिए बिगाड़ दिया. परफेक्शन को लेकर उनकी कोशिशें मुझे साधारण लाइफ में सेटल नहीं होने देती. हर चीज में उन्हें एक रिदम नजर आता, फिर चाहे वो शोर हो या कोलाहल, चाहे मेरी बेसुरी आवाज हो फिर मेरा अनाड़ी वाला डांस”.

कहा- स्क्रिप्ट जैसी लगती थी रिपोर्ट

वे आगे लिखती हैं, “अजीब यह है कि हमारी लाइफ एक्टिंग में मास्टरक्लास थी, इसलिए जब ‘बिन बुलाए गेस्ट’ की ड्रमैटिक एंट्री हुई तभी से मैं भी कोलाहल में सुर को पहचाने लगी. डॉक्टरों की रिपोर्ट मुझे स्क्रिप्ट जैसी लगती और चाहती थी कि यह परफेक्ट हो, इसलिए मैंने ऐसी कोई डीटेल मिस नहीं की, जो उन्होंने अपनी परफॉर्मेंस में तलाशा हो. इस सफर के दौरान हमारी मुलाकात कुछ अद्भुत लोगों से हुई, जिसकी लिस्ट लंबी है, लेकिन कुछ ऐसे हैं जिनका नाम मैं यहां बताना चाहूंगी”.

डॉक्टरों का किया शुक्रिया अदा

सुतापा ने डॉक्टरों का नाम लेते हुए लिखा, “ऑन्कॉलजिस्ट डॉक्टर नितेश रस्तोगी (Max hospital Saket), जिन्होंने शुरुआत से हमारा हाथ थामे रखा, डॉक्टर डैन क्रेल (UK), डॉक्टर शिद्रवी (UK), मेरी धड़कन और अंधेरे में मेरे लिए रोशनी की तरह बनी रहीं डॉक्टर सेमंती लिमये (कोकिलाबेन हॉस्पिटल). यह जर्नी कितनी आश्चर्यजनक, खूबसूरत, जबरदस्त, तकलीफदेह और एक्साइटिंग रही, इसे शब्दों में बता पाना काफी कठिन है”.

बता दें, सोशल मीडिया पर इरफान की फैमिली की तरफ से जारी किया गया ये स्टेटमेंट बहुत वायरल हो रहा है और लोग इस पर अपनी-अपनी प्रतिक्रियाएं भी दे रहे हैं.

पढ़ें इरफान को पहले ही हो गया था मौत का आभास, पत्नी से कहा था-अम्मा कमरे में हैं, मुझे लेने आई हैं…

Back to top button
?>