राजनीति

फेसबुक ने जिओ में ली 10% की हिस्सेदारी, 43,574 करोड़ रुपये निवेश करेगा फेसबुक

जियो प्लेटफार्म्स में फेसबुक की हिस्सेदारी 9.99 प्रतिशत होगी, 43,574 करोड़ रुपये निवेश करने की घोषणा

फेसबुक कंपनी ने जियो प्लेटफार्म्स लिमिटेड की 9.99 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीद ली है और जियो प्लेटफार्म्स लिमिटेड में 5.7 अरब डॉलर यानी 43,574 का निवेश किया है। सोशल मीडिया क्षेत्र की अमेरिकी कंपनी फेसबुक ने बुधवार को मुकेश अंबानी की जियो कंपनी में ये निवेश किया है।

रिलायंस कंपनी की और जारी किए गए एक बयान में इस बात की जानकारी दी गई है और बताया गया है कि फेसबुक ने रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के जियो प्लेटफार्म्स लिमिटेड में 43,574 करोड़ रुपये निवेश करने की घोषणा की है। जिससे फेसबुक इसका सबसे बड़ा अल्पांश शेयरधारक बन जाएगा। जियो प्लेटफार्म्स में फेसबुक की हिस्सेदारी 9.99 प्रतिशत होगी। गौरतलब है कि जियो एक फोन नेटवर्किंग कंपनी है जो की रिलायंस इंडस्ट्रीज की ही कंपनी है।

इस वजह से किया सौदा

इस समय रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड पर काफी सारा कर्जा है और इस कर्जे को कम करने के मकसद से ही रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने ये सौदा फेसबुक के साथ किया है। वहीं फेसबुक कंपनी ने भारत में अपनी पकड़ मजबूत बनाने के लिए ये सौदा किया है। क्योंकि आने वाले समय में भारत दुनिया का सबसे बड़ा बाजार होने वाला है।

फेसबुक के अलावा रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड कंपनी अपने तेल-रसायन कारोबार की हिस्सेदारी भी बेचने को लेकर एक डील कर रही है। बताया जा रहा है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड अपने तेल-रसायन कारोबार में 20 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचने के लिए सऊदी अरामको के साथ बातचीत कर रही है और आने वाले समय में ये डील पूरी हो जाएगा। दरअसल इस समय दुनिया में तेल की कीमतें काफी गिर गई हैं। जिसके चलते रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ने ये फैसला लिया है।

दरअसल रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड का लक्ष्य अगले साल तक अपने सभी कर्जों से मुक्त होने का है और कर्जों से मुक्त होने के लिए रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड ये सभी डील कर रही हैं और अपनी कुछ हिस्सेदारी बेच रही है।

जियो की हिस्सेदारी बेचने के लिए जियो कंपनी गूगल कंपनी के संपर्क में भी थी और इन दोनों कंपनी के बीच बातचीत भी हुई थी। हालांकि इस बातचीत का कोई नतीजा अभी तक नहीं आया है। वहीं इसी बीच जियो ने अपनी 10 प्रतिशत हिस्सेदारी फेसबुक को बेच दी है। आपको बात दें कि जियो प्लेटफार्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) के पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी है। जो भारत में डिजिटल की कई तरह की सेवाएं प्रदान करती हैं और इस समय भारत में जियो के ग्राहकों की संख्या 38.8 करोड़ से अधिक है।

गौरतलब है कि इस समय जो हालात हैं उसे देखते हुए फेसबुक के लिए ये फैसला काफी लाभदायक साबित होने वाला है। क्योंकि कोरोना के कारण अब कोई भी कंपनी चीन के साथ कारोबार नहीं करना चाहती है और चीन के बाद भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा इंटरनेट बाजार है।

Back to top button
?>