विशेष

लॉकडाउन में फर्जी IAS बनकर पुलिस पर झाड़ रहा था रौब, ऐसे हुआ पर्दाफाश

कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए, 21 दिनों का लॉकडाउन 25 मार्च से 14 अप्रैल तक घोषित था। लेकिन अब इसे 19 दिनों के लिए और बढ़ा दिया गया है। यानी अब 3 मई तक पूरा देश लॉकडाउन रहेगा। लेकिन बीते 21 दिनों के बीच लॉकडाउन तोड़ने वालों की कई खबरें आईं। जो इस गंभीर समय में कतई सहन करने लायक नहीं है। देश के कई इलाकों में  लॉकडाउन  पालन करवाने में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी है। देशभर में कई जगहों से ऐसी खबरें आईं, जिसमें पुलिस के साथ बदसलूकी की गई। पिछले ही दिनों पटियाला से एक खबर आई थी, जिसमें कुछ उपद्रवी लोगों के समूह ने एक असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर का हाथ काट दिया।

ये कहना गलत नहीं होगा कि केंद्र और राज्य सरकारें लॉकडाउन को लेकर जितनी गंभीर नजर आ रही हैं। दिनों दिन जनता की समझदारी उतनी ही कम होती जा रही है। लोग लॉकडाउन तोड़ने के अलग अलग तरीके खोज रहे हैं। ऐसा ही एक मामला पिछले दिनों  दिल्ली में हुआ। जहां एक शख्स ने नायाब तरीके से लॉकडाउन तोड़ने की कोशिश की। तो आइये जानते हैं, आखिर कौन था वो शख्स।

दरअसल ये मामला दिल्ली के उत्तर पश्चिमी जिले की है। जहां वाहन चेकिंग के दौरान एक फर्जी IAS को गिरफ्तार किया गया है। बता दें, यह लॉकडाउन के नियमों के विरूद्ध जाकर अपनी गाड़ी पर सड़कों में बेवजह घूम रहा था। ये आरोपी शख्स यहीं नहीं रूका, अगर पुलिस इसे कहीं रोक लेती तो ये उन्हें रौब दिखाता। दिल्ली पुलिस ने बताया कि आरोपी के गाड़ी में दिल्ली पुलिस का लोगो लगा हुआ था। जब कार सवार को एक बैरिकेड में रोका गया तो, वो कार से बाहर निकला और पुलिस से ही उलझने लगा। दिल्ली पुलिस ने बताया कि, आरोपी खुद को गृह मंत्रालय का सीनियर IAS अफसर बता रहा था। और पुलिसकर्मी जो मौके पर तैनात थे, उनसे उलझते हुए बोला, ‘तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई कार चेक करने की।’ साथ ही उसके गाड़ी के आगे पीछे दोनों तरफ भारत सरकार का लोगो लगा हुआ था।

दिल्ली पुलिस की ओर से बताया गया कि, हमारा पुलिस स्टाफ भी उसके धमकी से डर गया था। इसी बीच केशवपुरम थाने के एसएचओ मौके पर पहुंचे। और हालात का जायजा लिया। उसके बाद उस शख्स से परिचय पत्र मांगा गया। तो उस आरोपी ने गृह मंत्रालय लिखी हुई एक फाइल दिखा दी। और उसने कई आईएएस अफसरों के नाम भी गिनाए। साथ ही आरोपी ने बताया कि वह 2009 बैच का आईएएस अफसर है। लेकिन संदिग्ध से गहन पूछताछ हुई, इसके बाद उसकी पोल खुल गई।

इसके बाद पुलिस ने तुरंत आरोपी के खिलाफ केस दर्ज किया। और उसे पकड़ लिया, साथ ही उसकी गाड़ी भी जब्त कर ली गई। बाद में आरोपी की पहचान आदित्य गुप्ता के रूप में हुई। जिसकी उम्र 29 वर्ष है। पिता एक कॉन्ट्रैक्टर हैं। वह केशवपुरम का ही रहने वाला है। पुलिस के जानकारी मुताबिक, आरोपी शख्स लॉकडाउन के बीच महज सैर सपाटे के लिए निकला था। और फर्जी IAS बनकर पुलिस पर रौब झाड़ रहा था। फिल्हाल उससे पूछताछ की जा रही है।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close