राजनीति

लॉकडाउन: मोदी सरकार ने तैयार किया 3L फॉर्मूला, देश को बांटा जाएगा तीन जोन में

3L फॉर्मूला की तर्ज पर हो सकता है लॉकडाउन का एक्सटेंशन, इन राज्यों को मिल सकती है राहत

कोरोना वायरस के कारण देश में लगाए गए 21 दिन के लॉकडाउन की अवधि जल्द ही खत्म होने वाली है और 14 अप्रैल को देश में लगाया गया लॉकडाउन पूरी तरह से समाप्त हो जाएगा। हालांकि देश में अभी भी कोरोना वायरस के मामले कम नहीं हुए हैं और कोरोना वायरस के कारण मरने वालों की संख्या 300 के पार चली गई है। लॉकडाउन के बाद भी कोरोना वायरस की रफ्तार धीमी नहीं हुई है। जिसके कारण यही सवाल हर किसी के मन में उठ रहा है, क्या ऐसी स्थिति में लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाना चाहिए की नहीं?

कई राज्य के मुख्यमंत्री ने अपने राज्य में लॉकडाउन की अवधि को बढ़ा दिया है और 30 अप्रैल तक के लिए अपने राज्यों में लॉकडाउन को घोषित कर दिया है। लेकिन केंद्रीय सरकार लॉकडाउन को लेकर क्या फैसला करती है। ये देखना अहम होगा। ऐसा माना जा रहा है कि केंद्रीय सरकार ने कोरोना वायरस को रोकने के लिए एक नई रणनीति बनाई है और अब इस रणनीति के तहत ही कोरोना वायरस से लड़ा जाएगा।

Lockdown 2.0 के लिए मोदी सरकार विश्व स्वास्थ्य संगठन यानी डब्ल्यूएचओ की और से बनाई गई रणनीति को अपना सकती है। इस रणनीति के तहत डब्ल्यूएचओ ने सरकार को 3L का फॉर्मूला सुझाया है।

क्या है फॉर्मूला

माना जा रहा है कि लॉकडाउन (Lockdown) को कई चरणों में हटाया जाएगा और इसके तहत देश को तीन 3 जोनों में बांटा जाएगा। जो कि ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन होंगे। कोरोना के संक्रमण के स्तर के हिसाब से  रेड, ऑरेंज और ग्रीन जोन बनाएं जाएंगे।

रेड जोन

इस जोन में देश के उन जिलों को रखा जाएगा। जहां पर कोरोना के हॉटस्पॉट इलाके हैं और जहां तेजी से संक्रमण फैल रहा है। ऐसे जिलों में सबकुछ बंद रहेगा यानी स्कूल-कॉलेज, हवाई यात्रा, रेल और बस सेवाएं शुरू नहीं होंगी।

ऑरेंज जोन

जिन जिलों से कोरोना संक्रमण के नए मरीज नहीं आ रहे हैं और मरीजों की संख्या कम है। उसे ऑरेंज जोन में रखा जाएगा। इस प्रकार के जोन में थोडी ढील दी जाएगी और जन यातायात शुरू भी किया जा सकता है।

ग्रीन जोन

जहां से कोरोना का एक भी मामला सामने नहीं आया है उसे ग्रीन जोन माना जाएगा। ऐसे जिलों में व्यापारिक गतिविधियां शुरू हो जाएगी और बाजार खोले जा सकते हैं।

पाबंदियां रहेंगी जारी

3L फॉर्मूला के तहत बेशक की लोगों को थोड़ी ढील दी जाएगी। लेकिन सामाजिक, राजनीतिक, धार्मिक और खेल संबंधी आयोजनों पर पाबंदी जारी रहेगी। साथ में ही सिनेमा हॉल, मॉल्स, पार्क, पर्यटन स्थल, धर्मस्थल, शिक्षण संस्थान को भी बंद रखा जाएगा।

केंद्रीय सरकार ने ये फॉर्मूला लागू करने की पूरी तैयार कर ली है और जल्द ही इसे लागू कर सकती है। हालांकि कई राज्य के मुख्य मंत्रों ने पीएम मोदी के सामने लॉकडाउन को ही जारी रखने की बात कही थी। लेकिन लॉकडाउन के कारण देश को काफी नुकसान हो रहा है। ऐसे में 3L फॉर्मूला लॉकडाउन का एक बेहतर विक्लप साबित हो सकता है और सरकार पूरे देश में  इस लागू कर सकती है।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close