ब्रेकिंग न्यूज़

अमेरिका में आज से शुरू हुआ कोरोना वायरस के टीके का परीक्षण, इतने दिनों में तैयारी हो जायेगी दवा

दुनिया भर की कई सारी दवा निर्माता कंपनियां कोरोना वायरस को रोकने के लिए दवाई बनाने में लगी हुई हैं। लेकिन अभी तक किसी भी कंपनी को कामयाबी हाथ नहीं लग सकी है। इस वायरस को फैले हुए लगभग तीन महीने होने जा रहे हैं। लेकिन इस वायरस की दवा नहीं खोजी जा चुकी है। इस वायरस की चपेट में आने से पांच हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि डेढ़ लाख से अधिक लोग इससे ग्रस्त हैें। कोरोना वायरस से जहां हर रोज किसी ना किसी की मौत हो रही है। वहीं अब एक उम्मीद की किरण नजर आई है। दरअसल एक कंपनी ने कोरोना वायरस का टीका बना लिया है और अब इस टीके का परीक्षण किया जा रहा है।

अमेरिकी सरकार के एक अधिकारी की और से दी गई जानकारी के अनुसार टीके का परीक्षण सोमवार से शुरू होने जा रहा है। परीक्षण के पहले प्रतिभागी को सोमवार को प्रायोगिक टीका दिया जाएगा।  इस अधिकार ने अपने नाम को गुप्त रखते हुए बताया है कि परीक्षण के बारे में सार्वजनिक तौर पर फिलहाल कोई घोषणा नहीं की गई है। इस टीके को तैयार करने के लिए राष्ट्रीय स्वास्थ्य संस्थान (एनआईएच) पैसे दे रही है और ये परीक्षण ‘कैसर परमानेंट वाशिंगटन हेल्थ रिसर्च इंस्टीट्यूट’ में हो रहा है।

ये परीक्षण 45 युवा एवं स्वस्थ स्वेच्छाकर्मियों के साथ शुरू किया गया है। परीक्षण के तहत हर प्रतिभागी को अलग-अलग मात्रा में टीका लगाया जाएगा। इस परीक्षण के जरिए डॉक्टर ये देखना चाहते हैं कि क्या इस टीके से कोई दुष्प्रभाव जुड़ा हुआ है कि नहीं।

लग सकता है अभी और वक्त

इस टीके को बना लिया गया है लेकिन इसके सफल परीक्षण के बाद ही इसे बाजार में बेचा जा सकेगा। जन स्वास्थ्य अधिकारियों की माने तो अभी भी लोगों को लंबा इंतजार करना पड़ सकता है और किसी भी संभावित टीके की पुष्टि में एक साल से 18 महीने तक का वक्त लग सकता है।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस की दवा की खोज में दुनिया भर के शोध संगठन लगे हुए हैं। लेकिन अभी तक इस वायरस की दवा खोजी नहीं जा चुकी है। ये एक घातक वायरस है और इस वायरस के कारण जान भी जा सकती है। कोरोना वायरस की शुरूआत चीन देश से हुई थी और अब ये वायरस दुनिया के 156 देशों में फैल चुका है। भारत में कोरोना वायरस के 107 मामले अभी तक सामने आए हैं। जिसमें 10 लोग सही हो गए हैं। वहीं अमेरिका में इस वायरस से हजार से ज्यादा लोग ग्रस्त हैं।

इस वायरस को फैलने से रोकने के लिए अमेरिका ने देश में आपतकाल घोषित कर दिया है। भारत सरकार ने भी इस वायरस को रोकने के लिए कई देशों की यात्रा पर रोक लगा दी है और वीजा रद्द कर दिया है। आपको बात दें कि इस वायरस से चीन में सबसे अधिक मौते हुई हैं। वहीं चीन से फैलते हुए ये वायरस इटली पहुंच गया है और इटली में हजारों की संख्या में लोग इस वायरस की चपेट में आ गए हैं। चीन और इटली के हालतों को देखते हुए अमेरिका और भारत की सरकार हर वो जरूरी कदम उठा रही है जिससे कि इस वायरस को फैलने से रोका जा सके।

Back to top button