समाचार

अगर आप भी यूज करते हैं वोडाफोन और आइडिया, तो इस खबर से हो सकती हैं आपको काफी परेशानी

वोडाफोन और आइडिया के कस्टमर के लिए बहुत ही जल्द बुरी खबर आ सकती है। इस बुरी खबर की वजह से भारत में भूंकप आने की भी पूरी संभावना जताई जा रही है। जी हां, वोडाफोन और आइडिया के यूजर्स भारत में बहुत ही ज्यादा है, ऐसे में यदि ये कंपनियां बंद होती हैं, तो करोड़ों लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा। इतना ही नहीं, इसका असर भारतीय अर्थव्यवस्था पर भी दिखेगा, जिसका असर लंबे समय तक बना रहेगा, क्योंकि इससे करोड़ों लोगों की नौकरी भी खतरे में हैं।

आकड़ों की माने तो भारत में करोड़ों लोग इन दो कंपनियों का सिम यूज करते हैं और करोड़ों लोगों को इन कंपनियों ने नौकरी भी दिया हुआ है, लेकिन इन दिनों इन कंपनियों की हालत खस्ता हो चुकी है, जिसकी वजह से अब लोगों की टेंशन बढ़ गई है। हाल ही में ये मामला सुप्रीम कोर्ट भी पहुंच चुका है, ऐसे में दोनों कंपनियां कभी भी खुद को दिवालिया घोषित कर सकती हैं, जिसकी वजह से आप सब पर एक बड़ा असर देखने को मिलेगा।
दिवालिया घोषित हो सकती है ये कंपनिया

मिली जानकारी के मुताबिक, वोडाफोन और आइडिया ने मौजूदा अडजेस्टड ग्रोस रेवेन्यू (AGR) के तहत अपने बकाए चुकाने में असमर्थता जताई है, जिसकी वजह से माना जा रहा है कि ये दोनों बहुत ही जल्द खुद को दिवालिया घोषित कर सकती हैं। हालांकि, अभी इस बात की पुष्टि नहीं हुई है, लेकिन मामला बेहद गंभीर है और इनके पास पैसे भी नहीं है। ऐसे में पैसे न चुकाने की स्थिति में ये खुद को दिवालिया घोषित कर देंगे और फिर कंपनी बंद हो जाएगी।
सरकार का क्या है स्टैंड?

अब आपके मन में ये सवाल उठ रहा है कि आखिर इस पूरे प्रकरण पर सरकार क्या कदम उठा रही है? तो आपको बता दें कि सरकार, टेलीकॉम सर्विस प्रोवाइडर्स के शुल्क व लाइसेंस शुल्क के भुगतान में विफल रहने पर कार्रवाई कर सकती है। याद दिला दें कि सरकार यह कदम सुप्रीम कोर्ट द्वारा बीते साल 24 अक्टूबर को दिए गए फैसले के आधार पर उठा सकती है, जिससे इन्हें काफी नुकसान होगा और देश में बेरोजगारों की संख्या बढ़ जाएगी।
इन कंपनियों के बंद होने से होगा ये नुकसान

बताते चलें कि वोडाफोन और आइडिया के कस्मटर पूरे भारत में फैले हुए हैं, जिसकी वजह से लोगों के लिए ये काफी बड़ा झटका हो सकता है। इतना ही नहीं, इन कंपनियों के सिम भी बंद हो सकते हैं, जिसके लिए आपको पोर्ट का सहारा लेना पड़ेगा। याद दिला दें कि साल 2018 में एयरसेल ने खुद को बंद कर दिया था, जिसके बाद कस्टमर को काफी दिक्कत हुई थी। याद दिला दें कि कंपनियों के बंद होने से न सिर्फ ग्राहकों को नुकसान होता है, बल्कि कई घरों की रोजी रोटी भी छीन जाती हैं। और पिछले कुछ सालों में तो कई कंपनियां बंद हुई, ऐसे में वोडाफोन और आइडिया का बंद हो जाना वाकई किसी झटके से कम नहीं होगा।

Back to top button
?>