केरल: आरएसएस कार्यालय पर CPM कार्यकर्ताओं ने किया बम से हमला, कुछ ही घंटे में CPM दफ्तर हो गया खाक!

केरल – केरल एक बार फिर सियासी हिंसा के साये में है। गुरुवार की रात को कोझीकोड के नदापुरम इलाके में आरएसएस कार्यालय पर बम से हमला हुआ जिसमें आरएसएस के 4 कार्यकर्ता घायल हो गये। अभी तक इस हमले का कारण और हमलावरों का पता नहीं चला है, लेकिन शक की सुई CPM की ओर घुम रही है। घायलों को कोझीकोड के मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है। हमले के कुछ ही घंटे बाद आरएसएस के इसी कार्यालय से करीब 3 किलोमीटर दूर CPM के ऑफिस को कुछ अज्ञात लोगों ने जलाकर खाक कर दिया, जिसके लिए आरएसएस पर आरोप लगाये जा रहे हैं। Bomb attack on rss office.

संघ कार्यालय पर हमले के कुछ घंटों बाद CPM ऑफिस आग के हवाले –

कोझिकोड के नदपुरम इलाके में आरएसएस कार्यालय के पास हुए हमले के कुछ ही घंटे बाद आरएसएस के इसी कार्यालय से करीब 3 किलोमीटर दूर  स्थित CPM के ऑफिस में कुछ अज्ञात लोगों ने आग लगा दी। आपको बता दें कि आरएसएस कार्यालय पर यह हमला आरएसएस के सह प्रचार प्रमुख कुंदन चंद्रावत के उस बयान के कुछ घंटों बाद हुआ है, जिसमें उन्होंने केरल के मुख्यमंत्री का सिर लाने पर एक करोड़ रुपए इनाम देने की बात कही थी।

चंद्रावत को जवाब देते हुए केरल के सीएम पिनराई विजयन ने कहा कि वे संघ नेता बयान से जरा भी चिंतित या परेशान नहीं हैं। पुलिस के मुताबिक रात 8.30 के करीब फेंके गए बम की चपेट में आने से दो कार्यकर्ताओं बाबू और विनीश को पैर व पेट में गंभीर चोटें लगी हैं। उन्हें कोझिकोड मेडिकल कॉलेज में भर्ती करा दिया गया है। गौरतलब है कि इससे पहले भी 26 जनवरी को दो आरएसएस कार्यालयों पर बम फेंके गए थे।

आरएसएस नेता ने की थी एक करोड़ देने की घोषणा –

उज्जैन में आरएसएस के नेता कुंदन चंद्रावत ने केरल में मार्क्सवादियों के अत्याचार के लिए केरल के मुख्यमंत्री को हत्या का दोषी ठहराते हुए कहा था, ‘उसे लगता है कि हिंदुओं के खून में शिवाजी का गौरव नहीं है, हिंदुओं के खून में वह जज्बा नहीं है, मैं इस मंच से घोषणा करता हूं कि मेरा एक करोड़ रुपये का मकान है, उसका सिर काटकर लाकर दे कोई, मैं मकान और वह जायदाद उसके नाम कर दूंगा।’ ऐसा माना जा रहा है कि आरएसएस कार्यालय पर हमला आरएसएस नेता के इसी बयान के कारण हुआ है। जिसमें दो बाइक सवार अचानक आरएसएस कार्यालय में बम फेंक कर फरार हो गए। गौरतलब है कि राज्य में इससे पहले भी आरएसएस कार्यकर्ताओं पर हमले हुए थें, जिसकी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने निंदा की थी।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

error: Content is protected !!