ब्रेकिंग न्यूज़

कपिल का AAP कनेक्शन आया सामने, क्या शाहीन बाग और जामिया आम आदमी पार्टी का एक प्रयोग है?

कपिल गुर्जर ने दिल्ली पुलिस के सामने यह स्वीकार किया कि वह 2019 की शुरुआत से आम आदमी पार्टी (AAP) में शामिल है । दिल्ली पुलिस ने AAP के कई वरिष्ठ नेताओं के साथ कपिल गुर्जर की तस्वीरें भी अपने मोबाइल फ़ोन से बरामद कीं। दिल्ली की क्राइम ब्रांच ने यह खुलासा किया है , क्राइम ब्रांच कपिल गुर्जर से पूछताछ कर रही है। कपिल गुर्जर ने इस सप्ताह के शुरू में शाहीन बाग में हवाई फायर की थी और आम आदमी पार्टी ने इस का आरोप भाजपा पर लगा दिया था, पर असलियत यह है की कपिल ने आम आदमी पार्टी की टोपी पहनी हुई है।

राजेश देव, डीसीपी क्राइम ब्रांच ने बताया, “हमने जांच के दौरान उसके फोन से तस्वीरें बरामद कीं। कपिल ने कबूल किया है कि वह और उसके पिता जनवरी-फरवरी, 2019 के बीच AAP में शामिल हुए थे।”

हालांकि, AAP ने कपिल गुर्जर के साथ किसी भी लिंक से इनकार किया है। लेकिन आम आदमी पार्टी के प्रचारक अपने ट्वीटर हैंडल से कपिल गुज्जर के साथ ली हुई तस्वीरें डिलीट कर रहे हैं ताकि डैमेज कण्ट्रोल हो सके।

कपिल गुर्जर ने यह भी बताया कि उनके पिता गजे सिंह भी AAP सदस्य थे और 2019 में वह और उनके पिता दोनों पार्टी में शामिल हो गए थे। कपिल गुर्जर के पिता ने इससे पहले बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के टिकट पर 2012 में दिल्ली नगर निगम (MCD) का चुनाव लड़ा था।

फोन से मिली तस्वीरों में, कपिल गुर्जर को AAP के वरिष्ठ नेताओं जैसे संजय सिंह और आतिशी के साथ उनके समर्थकों के साथ देखा जा सकता है। दिल्ली की अपराध शाखा ने कथित तौर पर कपिल गुर्जर, उनके पिता और आम आदमी पार्टी के बीच इस संबंध के बारे में भी बताया है।

कपिल गुर्जर शाहीन बाग इलाके में आया था , जहाँ हजारों नागरिक एक फरवरी को नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के खिलाफ धरने पर बैठे हैं और दो राउंड फायर किए। उसके बाद कपिल गुर्जर को गिरफ्तार कर लिया गया।

इस बीच, AAP के संजय सिंह ने कपिल गुर्जर के साथ किसी भी तरह के संबंध से इनकार किया है और कहा, “ऐसी तस्वीरों को जारी करने का कोई मतलब नहीं है। यह भाजपा  की गंदी राजनीति का हिस्सा है। अपराध की जांच होनी चाहिए और अपराधी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए। । ”

संजय सिंह ने कहा, “भाजपा प्रवक्ता राजेश देव, जो गलती से डीसीपी ऑफ क्राइम ब्रांच हैं, वो बयान दे रहे हैं।”

”AAP सांसद संजय सिंह ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए कहा  “जांच पूरी नहीं हुई है, तस्वीरों की जांच नहीं की गई है और एक पुलिस अधिकारी राजेश देव एक पार्टी का नाम उस समय ले रहा है जब आदर्श आचार संहिता  लागू है। कल हम चुनाव आयोग में शिकायत करेंगे। , ”  कि किसकी अनुमति से उन्होंने पार्टी का नाम लिया और उन्होंने यह किस आधार पर किया?”

संजय सिंह कितने दूध के धुले हैं वो यह बात खुद भी जानते हैं और दिल्ली की जनता भी इसे समझने लग गयी है । अभी हाल ही है मनीष सिसोदिया ने एक ट्वीट के माध्यम से एक फोटो शेयर किया था जिस पर उन्होंने दिल्ली पुलिस पर इल्जाम लगाया था की जामिआ पर बसों में आग दिल्ली पुलिस ने लगाई। लेकिन बाद में यह पता चला की ये ग़लत खबर फैलाई गयी है। सोचने वाली बात है की क्यों मनीष सिसोदिया ग़लत खबर दे कर हिंसा भड़काना चाहते थे? मनीष सिसोदिया ने कभी इस पर सफाई नहीं दी और न ही इस पर माफ़ी मांगी ।

आम आदमी पार्टी के विधायक अमानतुल्लाह भी देशद्रोही शरजील इमाम के साथ लोगों को भड़काते हुए नज़र आ चुके हैं । खैर इन का मकसद क्या था यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा । अब चुनाव में कौन कितने पानी में यह तो दिल्ली की जनता ही तय करेगी

Show More

Related Articles

Back to top button
Close