लखनऊ/नई दिल्ली –  उत्‍तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2017 के तीसरे चरण के तहत 19 फरवरी को मतदान होना है। लेकिन अभी से आम जनता को उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी-कांग्रेस गठबंधन को बहुमत मिलने की झुठी खबरें पहुंचायी जा रही हैं। ऐसी खबरों को सोशल मीडिया पर फेसबुक और वॉट्सऐप के जरिए तो वायरल किया ही जा रहा है साथ-साथ अखबारों में भी ऐसी खबरों को दिखा कर लोगों को ठगा जा रहा है। लोगों को आसानी से इस बात पर यकिन हो जाए इसके लिए हिंदी के प्रसिद्ध अखबार दैनिक जागरण और एबीपी न्यूज चैनल का नाम इस्तेमाल किया जा रहा है। SP congress government in uttar Pradesh.

 

कौन दिखा रहा एसपी-कांग्रेस को पूर्ण बहुमत की ख़बर –

SP congress government in uttar Pradesh

 

जैसा कि आप इस वायरल हो रही तस्वीर में देख सकते हैं कि इसे दैनिक जागरण के फ्रंट पेज पर एबीपी न्यूज के कथित एग्जिट पोल के तौर दिखाया गया है, जिसमें एसपी-कांग्रेस गठबंधन को 217 सीटें मिलते दिखाया गया है। इस फोटो में बीजेपी को 108 और बीएसपी को 76 सीटें मिलते दिखाया गया है। इसी फोटो में मुख्यमंत्री के तौर पर अखिलेश यादव को 46%, मायावती को 21% और मौजूदा गृह मंत्री राजनाथ सिंह को 3% लोगों की पसंद बताया गया है।

सबसे पहले तो हम आपको बता दें कि चुनाव के दौरान कोई भी मीडिया संस्थान इस तरह का एग्जिट पोल प्रकाशित नहीं कर सकता, ऐसा नियम है। इसलिए दो बड़े मीडिया संस्थान के नाम का सहारा लेकर लोगों तक झूठ फैलाया जा रहा है और इस बारे में दोनों मीडिया संस्थानों ने भी साफ कर दिया है यह एग्जिट पोल पूरी तरह से फर्जी है। यह किसी पार्टी के समर्थकों या प्रचार टीम का किया धरा है।

दोनों मीडिया संस्थानों ने बताई इस खब़र की सच्चाई –

SP congress government in uttar Pradesh

यूपी के कुछ इलाकों से ऐसी खबरें मिल रही हैं कि इस तस्वीर को पैमफ्लेट जैसे दैनिक जागरण अखबार के साथ लोगों तक पहुंचाया जा रहा ताकि लोगों को ऐसा लगे कि यह अखबार का ही हिस्सा है और लोग इसे सच मान लें। दैनिक जागरण अखबार ने ऐसे झूठे प्रचार के खिलाफ पुलिस में एफआईआर दर्ज करवा दी है और यह खबर छापकर मतदाताओं से सावधान रहने की अपील भी की है।

SP congress government in uttar Pradesh

दैनिक जागरण के अलावा, एबीपी न्यूज ने भी इस पूरे मसले पर स्पष्टीकरण देते हुए एक खबर प्रकाशित की है और कहा है कि चैनल ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव से जुड़ा ऐसा कोई एग्जिट पोल टेलिकास्ट नहीं किया है। एबीपी न्यूज भी इस मामले में कानूनी कार्रवाई करने जा रहा है। चैनल ने इस पूरे मामले पर एक शो के जरिए इस एग्जिट पोल और इस तस्वीर को फर्जी बताया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.