ब्रेकिंग न्यूज़

चीन को पच नहीं रहा भारत के #ISRO की कामयाबी, दे दी भारत को चेतावनी, कहा ये …

नई दिल्ली भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन यानि इसरो ने कल एक साथ एक ही मिशन में 104 सेटेलाइट लांच कर एक नया इतिहास बना रच दिया। इस बड़े लांच के जरिये इसरो ने अपनी भारत की बढ़ती ताकत का लोहा दुनिया को दिखा दिया, जिसकी अंतरराष्ट्रीय मीडिया में जबरदस्त सराहना हो रही है। इसी मिशन के जरिये इसरो ने कार्टोसेट-2 सीरीज का एक सेटेलाइट भी लांच किया। इससे देश को मौसम की सूचना से लेकर सड़कों के हाल तक की जानकारी में मदद मिलेगी। World media congrats India on satelite launch.

दुनिया को आश्चर्य, विदेशी मीडिया बोला ‘सलाम इंडिया’ –

इसरो द्वारा किये गए इस लांच पर न्यू यॉर्क टाइम्स ने कहा कि, एक दिन में उपग्रहों के प्रक्षेपण के पिछले रिकॉर्ड के मुकाबले करीब तीन गुना ज्यादा, 104 उपग्रहों को एक साथ प्रक्षेपित कर उनकी कक्षाओं में सफलतापूर्वक स्थापित किया। भारत अब अंतरिक्ष आधारित सर्वेलास और संचार के बढ़ते व्यावसायिक बाजार में ‘महत्वपूर्ण पक्ष’ के रूप में स्थापित हो गया है। इस संबंध में सीएनएन का कहना है, ‘अमेरिका और रूस की प्रतिद्वंद्विता को भूल जाएं। अंतरिक्ष के क्षेत्र में वास्तविक दौड़ तो एशिया में हो रही है।’

अंतरराष्ट्रीय मीडिया ने भारत को कुछ ऐसे सराहा –

द न्यूयार्क  टाइम्स: एक दिन में उपग्रहों के प्रक्षेपण के पिछले रिकॉर्ड के मुकाबले करीब 3 गुना ज्यादा, 104 उपग्रहों को प्रक्षेपण के बाद उनकी कक्षाओं में सफलतापूर्वक स्थापित किया गया।

सी.एन.एन.: अमरीका और रूस की प्रतिद्वंद्विता को भूल जाएं। अंतरिक्ष के क्षेत्र में वास्तविक दौड़ तो एशिया में हो रही है।

बी.बी.सी.: भारत अरबों डॉलर के अंतरिक्ष बाजार में बड़ा खिलाड़ी बनकर उभर रहा है।

चीन की शिन्हुआ एजैंसी: भारत ने रूस का रिकार्ड तोड़ दिया है।

लंदन का टाइम्स अखबार: भारत ने अंतरिक्ष के क्षेत्र में प्रभावशाली देशों के समूह में शामिल होने के लक्ष्य को स्पष्ट कर दिया।

गार्जियन: नया रिकार्ड बनाने वाला यह प्रक्षेपण तेजी से बढ़ते निजी अंतरिक्ष बाजार में गंभीर पक्ष के रूप में भारत की स्थिति को मजबूत बनाएगा।

 

भारत की कामयाबी को हजम नहीं कर पाया चीन –

एक तरफ जहां पूरी दुनिया भारत द्वारा एक साथ 104 सैटलाइट के सफल प्रक्षेपण पर सराहना कर रहे हैं, वहीं चीन को यह हजम नहीं हो रहा। चीनी अखबार ने एक लेख में लिखा है कि एक साथ 104 सैटेलाइट लॉन्च करना भारत के लिए उपलब्धि तो है लेकिन भारत अभी भी अंतरिक्ष के क्षेत्र में अमेरिका और चीन से काफी पीछे है। इस लेख में यह भी कहा गया कि भारत ने स्पेस स्टेशन के लिए कोई प्लान नहीं बनाया है और मौजूदा समय में भारत का कोई भी एस्ट्रोनॉड अंतरिक्ष में नहीं है। चीन की आधिकारिक मीडिया ने भारत को चेतावनी  देते हुए कहा कि चीन को चुनौती देने का भारत को खामियाजा भुगतना पड़ेगा।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close