जम्मू-कश्मीर के नए नक्शे से बौखलाया पाकिस्तान, नए नक्शे को लेकर दे रहा है बेतुके बयान

भारत सरकार की और से जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग केंद्र शासित प्रदेश बनाए जाने के बाद अब नया भारतीय नक्शा जारी कर दिया गया है और इस नए नक्शे को देखकर पाकिस्तान की नींद उड़ गई हैं। इस नए नक्शे को भारत सरकार ने शनिवार के दिन जारी किया है और इसे जारी करते ही पाकिस्तान देश ने अपनी अपत्ति जाहिर करना शुरू कर दिया है और इस नक्शे को स्वीकार करने से मना कर दिया है। दरअसल भारत की और से जारी किए गए नए नक्शे में जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को केंद्र शासित प्रदेश दिखाया गया है और साथ में ही पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के दो जिलों को केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर का हिस्सा दिखाया गया है।

पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के दो जिलों मीरपुर और मुजफ्फाराबाद को जम्मू-कश्मीर में जोड़ा गया है। जबकि इन दोनों जिलों पर पाकिस्तान अपना कब्जा बताता आ रहा है। भारत की और से जारी किए गए इस नए नक्शे पर पाकिस्तान की और से तीखी प्रतिक्रिया आई है और पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने रविवार को एक बयान जारी किया है। पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय की और से जारी किए गए बयान में कहा गया है कि ये नक्शा संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों का उल्लंघन है। पाकिस्तान इस नक्शे को स्वीकार नहीं करता है और इस नक्शे को खारिज करता है। ये नक्शा संयुक्त राष्ट्र के नक्शे से एकदम अलग है। ये नक्शा एकदम गलत है और पाकिस्तान भारत के नए नक्शे को अपुष्ट मानता है।

पाकिस्तान की और से आए इस बयान से ये साफ जाहिर है कि भारत के नए नक्शे से पाकिस्तान डर गया है और उसे पीओके को लेकर खतरा नजर आ रहा है। पाकिस्तान ने अपने इस बयान में आगे कहा है कि हम दोहराते हैं कि जम्मू-कश्मीर को लेकर उठाए गए भारत के कदम से विवादित स्थिति को नहीं बदला जा  सकता है। पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर क्षेत्र और गिलगिट-बाल्टिस्तान को भारत के नक्शे में दिखाना स्वीकार नहीं करता है।

हाल ही में किया गया था नक्शा जारी

जम्मू-कश्मीर राज्य से विशेष राज्य का दर्जा हटाए जाने के बाद इस राज्य को भारत सरकार द्वारा केंद्र शासित प्रदेश बना दिया गया था। इस राज्य से लद्दाख को भी अलग कर दिया गया था और लद्दाख को भी केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया है। वहीं शनिवार को भारत सरकार ने जम्मू-कश्मीर और लद्दाख का नया नक्शा जारी किया है। जिसमें पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के मीरपुर और मुजफ्फाराबाद जिलों को जम्मू-कश्मीर का हिस्सा दिखाया गया है। जिसके साथ ही केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में कुल जिलों की संख्या 22 हो गई है। गौरतलब है कि मीरपुर और मुजफ्फराबाद को भारत हमेशा अपना भाग बताता रहा है। जबकि पाकिस्तान इन दोनों जिलों पर अपना कब्जा होने का दावा करता है।

कुपवाड़ा, बांदीपोरा, बारामूला, पुंछ, बड़गाम, कुलगाम, शोपियां, किश्तवाड़, उधमपुर, डोडा, सांबा, जम्मू, कठुआ, रामबन, राजौरी, अनंतनाग, पुलवामा, श्रीनगर, रियासी और गंदेरबल जिले जम्मू-कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश के अन्य जिले होंगे।