Jokes: लड़की- रो क्यों रहे हो? लड़का- मैंने आज तक किसी को Kiss नहीं किया, लड़की- रो मत मुझे कर ले

हंसी की दुनियां में एक बार फिर आप सभी का स्वागत हैं. हर बार की तरह आज भी हम आप सभी के लिए चुटकुलों का बेहतरीन कलेक्शन लेकर आए हैं. हमारा दावा हैं कि इन जोक्स को पढ़ आपके चेहरे खिल उठेंगे. आपकी सभी चिंताएं कुछ पल के लिए दूर हो जाएगी. ये चुटकुले आपका दिल और दिमाग रिलैक्स कर देंगे. आप हल्का और अच्छा महसूस करेंगे. तो चलिए फिर देर किस बात कि, फटाफट इन चुटकुलों का आनंद लिया जाए और सभी उदासियों को अलविदा कहा जाए.

महिला: डॉक्टर साहब आप दवा की शीशियों पर पर्ची चिपका दें।

डॉक्टर: अरे इसकी क्या जरुरत है?

महिला: नहीं डॉक्टर साहब, आप बस पर्चियां चिपका दीजिये।

डॉक्टर: ठीक है परन्तु क्यों?

महिला: दरअसल, इससे मुझे पता रहेगा कि कौन सी गोली मेरे पति के लिए है और कौन सी कुत्ते के लिए है। क्योंकि मैं नहीं चाहती कि शीशी बदल जाए और मेरे कुत्ते को कुछ हो जाए

साइकोलॉजी का प्रैक्टिकल हो रहा था…

प्रोफेसर ने 1 चूहे के लिए एक तरफ केक और दूसरी तरफ चुहिया रख दी… चूहा फ़ौरन केक कि तरफ लपका

दूसरी बार केक को बदल के रोटी रखी… चूहा रोटी कि तरफ लपका

कई बार फ़ूड-आइटम्स बदले मगर चूहा हर बार फ़ूड कि तरफ भागा.

प्रोफेसर: so students, its proved कि hunger is bigger need than girls…..

इतने में लास्ट बेंच से रणछोर दास छांचड़ बोला: सर, 1 बार चुहिया बदल के भी देख लो, हो सकता है वो उसकी “बीवी” हो.

पत्नी: — पूजा किया करो, बड़ी बलाएँ टल जाती हैं

पति : – तेरे बाप ने बहुत की होगी, उसकी टल गयी, मेरे पल्ले पड़ गयी.

बेटा : वो सामने वाले बंगले में जो नई लड़की रहने आई है वो “आम आदमी पार्टी” की है ।।

पिताजी : तुझे कैसे पता?

बेटा : मैंने उसे हाथ दिखा कर स्माइल दी, तो उसने मुझे झाड़ू दिखाया ।।

लड़की ने प्यार से एडमीन के सीने पर अपना सर रखा और बोली : जानू, आपका दिल कितना मुलायम है

एडमीन: अरे पगली वो दिल नहीं ,जेब में तम्बाकू की पुडिया है। खायेगी?

Rohit Sharma के बारे मे आप क्या कहना चाहते है ?

Kapil Dev – कहने को तो बहुत कुछ है, मगर TV पर माँ बहन की गाली देना अच्छा नहीं लगता

दिल्ली के अनपढ़ ग़रीब व्यक्तियों की समस्या :

कल्लू: आम आदमी पार्टी को बहुमत इस लिए मिला है क्यूंकि हम सबने उन्हें वोट दी और वो इसलिए दी कि वो दिल्ली में फ्री वाईफ देगी ।

लल्लू: पर समझ में ये नहीं आ रहा है कि इतनी वाईफें आएगीं कहां से और हम लोग अपनी पुरानी वाईफों का करेंगें क्या ??

कल्लू: कहीं हमारी वाइफों की आपस में अटटा बटटी तो नहीं करवा देंगे!!!

लल्लू: अच्छा! तो फिर मैं तो मल्लू वाली लूँगा ।

कल्लू: ओह, भूल जा!!! उसके घर के बाहर तो पहले ही लाईन लगी हुई है…

आशा करते हैं आप ने इन चुटकुलों को पढ़ खूब एन्जॉय किया होगा. हमारी आप से विनती हैं कि इन जोक्स को अपने साथियों के साथ भी ज्यादा संख्या में शेयर करे. इस तरह वे भी इसे पढ़ हंस लेंगे.