बॉलीवुड

तो इस वजह से लता मंगेशकर ने नहीं की शादी, 70 सालों बाद उनकी बहन ने किया खुलासा

बॉलीवुड की सुरों की मल्लिका के नाम से मशहूर लता मंगेशकर आज यानि 28 सितंबर को अपना जन्मदिन सेलिब्रेट कर रही हैं। इस मौके पर उनसे जुड़े कुछ सवालों के जवाब उनके फैंस जानना चाहते हैं, जिसका जवाब उनकी बहन ने पहली दफा दिया। जी हां, लता मंगेशकर को लेकर मीडिया में कई तरह की बातें छपी, जिसको लेकर कई बार विवाद भी हुआ, जिस पर अब उनकी बहन ने जवाब दिया। इन तमाम सवालों के बीच में एक मुख्य सवाल उनका शादी न करना भी है, जिसको लेकर बड़ा खुलासा हुआ है।

लता, आशा और ऊषा मंगेशकर के अलावा एक और मंगेशकर हैं मीनाताई मंगेशकर, जिन्होंने भी हिंदी और मराठी फिल्मों को अपनी आवाज़ दी है। ऐसे में सालों बाद मीडिया के सामने आकर मीनाताई मंगेशकर ने लता दी के शादी न करने के पीछे की वजह बताई है। दरअसल, 88 साल की हो चुकीं मीनाताई मंगेशकर ने एक किताब लिखी है, जिसका नाम दीदी और मैं है, जिसमें उन्होंने कई बड़े खुलासे किए है। इसी सिलसिले में उन्होंने हाल ही में एक इंटरव्यू दिया है, जिसमें कई गहरें राज़ खोले हैं।

लता मंगेशकर ने क्यों नहीं की शादी?

लता मंगेशकर की बहन मीनाताई मंगेशकर से जब पूछा गया कि उनकी दीदी के पास सब कुछ था और उन्हें ढेर सारे प्रपोजल भी आए होंगे, तो उन्होंने शादी क्यों नहीं की? इसका जवाब देते हुए मीनाताई मंगेशकर ने कहा कि वे हम सब से बहुत प्यार करती थी और करती हैं, ऐसे में यदि वे शादी करती तो हमसे दूर चली जाती है। इस वजह से उन्होंने हमारे साथ रहने के लिए कभी शादी नहीं की और हमेशा हम बहनों का ख्याल रखा। मतलब साफ है कि लता मंगेशकर ने अपनी बहनों के लिए शादी नहीं की।

आशा को लेकर लता मगेंशकर पर लगे आरोप बेबुनियाद

लता मंगेशकर की बहन मीनाताई मंगेशकर ने कहा कि लता दी के बाद आशा दी को ही गाना गाना था, जिसकी वजह से नैय्यर साहब ने आशा दी को सिलेक्ट किया, ऐसे में दोनों के बीच कोई झगड़ा नहीं हुआ। साथ ही में जब उनसे पूछा गया कि क्या वाकई लता दी नहीं चाहती थी कि आशा उनकी तरह नाम कमाए, तो उन्होंने कहा कि नहीं…ऐसा बिल्कुल नहीं है, बल्कि लता दी अक्सर हम सभी बहनों को आगे बढ़ने के लिए गाइड करती रही हैं, ये सारे आरोप बेबुनियाद हैं।

दीदी ने मुझे हमेशा सपोर्ट किया- मीनाताई मंगेशकर

मीनाताई मंगेशकर ने कहा कि जब मेरी शादी हुई, तो मैंने गाना गाना छोड़ दिया, मेरे इस फैसले पर दीदी ने ही मेरा साथ दिया था। दीदी ने मुझसे कहा था कि यदि तुम नहीं गाना चाहती हो, तो मत गाओ, कोई जबरदस्ती नहीं है। बता दें कि मीनाताई मंगेशकर को बाकी बहनों की अपेक्षा इंडस्ट्री में कम लोकप्रियता हासिल हुई, लेकिन वे अपने इस किताब से जबरदस्त सुर्खियां बटोर रही हैं। इतना ही नहीं, उन्होंने बताया कि 90 साल की उम्र में लता दी बहुत ज्यादा एक्टिव हैं, जिनसे हमें प्रेरणा मिलती है।

Back to top button