सोनाक्षी का दर्द आया सामने, बोली ‘मेरे मोटापे का इंडस्ट्री-मीडिया दोनों ने मजाक उड़ाया, मुझे..’

बॉडीशेमिंग यानी किसी के रंग रूप को लेकर उसका मजाक उड़ाना आज भी एक बड़ी समस्यां हैं. इसकी वजह से लोग ना सिर उदास होते हैं बल्कि डिप्रेशन तक में चले जाते हैं. इस तरह की प्रॉब्लम का सामना हर किसी को करना पड़ता हैं. फिर आप एक आम आदमी हो या कोई बहुत बड़े सेलिब्रिटी, तुच्छ मानसिकता के ये लोग किसी को नहीं छोड़ते हैं. मसलन बॉलीवुड में भी कई अभिनेत्रियों को अपने मोटापे की वजह से लोगो के मजाक का शिकार होना पड़ा हैं. विद्या बालन, हम कुरैशी, परीनिती चोपड़ा, ऋचा चड्डा और ज़रीन खान ऐसी ही कुछ एक्ट्रेस हैं. इस लिस्ट में एक और नाम भी आता हैं जिसे सबसे ज्यादा ही बॉडी शेमिंग का सामना करना पड़ा. ये नाम और कोई नहीं बल्कि शत्रुघन सिन्हा की बेटी सोनाक्षी सिन्हा हैं.

दबंग फिल्म से बॉलीवुड में एंट्री करने वाली सोनाक्षी का डायलाग याद हैं? अरे वही ‘थप्पड़ से डर नहीं लगता साहब प्यार से लगता हैं.’ इसे सोनाक्षी की रियल लाइफ में अप्लाई करे तो ये कुछ इस तरह होगा ‘थप्पड़ से डर नहीं लगता साहब बॉडी शेमिंग से लगता हैं’. दरअसल सोनाक्षी ने हाल ही में पिंकविला को एक इंटरव्यू दिया जिसमे उन्होंने बताया कि कैसे लोग उनके वजन और शरीर की वजह से उनका मजाक उड़ाया करते थे. स्कूल के दिनों में सोनाक्षी काफी मोटी हुआ करती थी.

तब की लाइफ के बारे में बताते हुए वे कहती हैं “मैं एक मोटी बच्ची थी. मेरा वजन 95 किलो था. बच्चो के हिसाब से मेरा आकार भी बड़ा था. इस कारण मुझे बहुत बुली किया जाता था. मैं स्पोर्ट्स में बढ़चढ़ के हिस्सा लेती थी, लेकिन फिर भी लड़के मेरा मजा उड़ाते थे. मुझे घटिया नामो से पुकारते थे. स्कूल में जब कोई नाटक होता था तो वे मुझे मुख्य किरदार नहीं देते थे. या तो साइड में खड़ा कर देते या नरेटर बना देते.

सोनाक्षी आगे कहती हैं “मुझे याद हैं एक बार स्कूल में एनुअल फंक्शन था और मैं मॉडल बन रैंप पर वाक करना चाहती थी. लेकिन एक लड़की ने मुझ से कहा कि तुम लाइट संभालो. जब मैंने पूछा क्यों? तो वो बोली तुम रैंप पर चलने के लिए बहुत मोटी हो. मुझे बहुत बुरा लगा. ऐसा बहुत कुछ था जब मैं बड़े होने के दौरान करना चाहती थी. तो वो लड़की कौन होती हैं जो मुझे बताएगी मुझे क्या करना चाहिए और क्या नहीं. उसका वजन मुझ से 10-20 किलो कम हैं तो क्या वो ये सब डिसाइड करेगी. मैं आज जिस मुकाम पर हूँ उस से मुझे ख़ुशी हैं.

सोनाक्षी ने बताया कि 2010 में सलमान के साथ बॉलीवुड में एंट्री के बाद भी ये बॉडीशेमिंग के मामले बंद नहीं हुए. उन्होंने इस बात पर दुःख जाताया कि इंडस्ट्री और मीडिया के लोगो ने कैसे उनका मजाक उड़ाया. वे कहती हैं “ये यही नहीं रुका. मैंने पहली फिल्म के लिए 30 इलो घटाया. जब ये रिलीज हुई तो दर्शको ने तो पसंद किया. लेकिन इंडस्ट्री और मीडिया ने मेरे मोटापे का मजाक उड़ाया. ये बहुत दुखद था. मुझे पता हैं कि मैं कोई पतले फिगर वाली लड़की नहीं हूँ. सच कहूं तो इसकी जरूरत भी नहीं थी. मुझे पता हैं कि मेरे इस वजन के साथ भी में बहुत कुछ कर सकती हूँ. इसलिए मैंने इसे कभी दिल पर नहीं लिया.