किसान को जमीन के अंदर मिला 25 लाख का खजाना, लेकिन ज्यादा देर नहीं टिकी ख़ुशी, जाने क्यों

कहते हैं जब ऊपर वाला देता हैं तो छप्पड़ फाड़ के देता हैं. इसकी एक वजह ये भी हैं कि भाग्य हमारी लाइफ में एक सामान कभी भी नहीं रहता हैं. कभी हमारे अच्छे दिन चलते हैं तो कभी बुरे दिन झेलने पड़ते हैं. अब ये किस्मत का खेल ही कुछ ऐसा होता हैं जिसकी कभी कोई ग्यारंटी नहीं होती हैं. आज सुखा हैं तो अगले पल चांदी ही चांदी हैं. हर गरीब व्यक्ति के मन में एक बार ये ख्याल जरूर आता हैं कि काश कोई चमत्कार हो जाए और उसे पैसो का खजाना मिल जाए. हम सभी किस्से कहानियों में भी ये सुनते रहते हैं कि कैसे लोगो को उस जमाने में जमीन में गड़े या समुद्र में डूबे खजाने मिलते रहते हैं. हालाँकि आज जो खबर हम आपो बताने जा रहे हैं वो कोई किस्सा या कहानी नहीं हैं, बल्कि सत प्रतिशत हकीकत हैं.

दरअसल उत्तर प्रदेश के हरदोई के सांडी कस्बे के मोहल्ले खिड़किया में एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आया हैं. यहाँ मोनू नाम का एक किसान रहता हैं जिसे जमीन से 25 से 27 लाख कीमत तक का खजाना मिला हैं. दरअसल मोनू के पुस्तैनी घर के पीछे एक खंडहर बना हुआ हैं. यहाँ वो कुछ काम करवा रहा था. इस दौरान जब नीव खोदी जा रही थी तो उसे जमीन के अंदर कई सारे गहने मिले.

मोनू ने गहने मिलने की बात को दबाने की पूरी कोशिश करी हालाँकि ये खबर गाँव में आग की तरह फ़ैल गई. जल्द ही इसकी भनक पुरातत्व विभाग को भी लग गई. शुरुआत में तो मोनू ने गहने मिलने की बात से साफ़ इंकार कर दिया. फिर बाद में एसपी आलोक प्रियदर्शी ने एक गोपनीय टीम का गठन किया. इस टीम को जांच पड़ताल के दौरान मोनू के घर से ही गहने मिले. ऐसे में पुलिस ने इन गहनों को अपने कब्जे में ले लिया. पुलिस का कहना हैं कि यह प्राचीन गहने पुरातत्व विभाग के लिए महत्त्व रखते हैं.

एक जानकारी के अनुसार जमीन से मिले इन गहनों की कीमत 25 से 27 लाख रुपए बतलाई जा रही हैं. इसमें सोने के जेवर 650 ग्राम, चांदी के जेवर 4.5 किलो हैं. इसके अतिरिक्त इसमें तीन किलो वजन वाला पीतल की धातु से बना एक लोटा भी मिला हैं. चुकी ये मामला पुरातत्व विभाग से जुड़ा हुआ हैं इसलिए फिलहाल इन सामान की कोई जांच नहीं करवाई गई हैं.

उधर सोशल मीडिया पर इस मामले के वायरल होने के बाद तरह तरह के रिएक्शन आ रहे हैं. लोगो को यकीन नहीं हो रहा हैं कि एक किसान को जमीन के अंदर से 25 लाख रुपए का खजाना मिला हैं. हालाँकि उस किसान की ये ख़ुशी बस कुछ ही देर की थी क्योंकि उसका ये खजाना पुलिस में कब्जे में लेकर पुरातत्व विभाग के हवाले कर दिया हैं. अब इसे कहते हैं हाथ तो आया पर मुंह ना लगा.

खैर आपका इस पुरे मामलो को लेकर क्या विचार हैं हमें कमेंट सेक्शन में लिखकर जरूर बताइए. साथ ही क्या आपको कभी किसी प्रकार का खजाना या पैसा यूं अचानक पड़ा मिला हैं? अपने अनुभव साझा करना ना भूले.