टीम इंडिया के पूर्व हेड कोच का बयान- ‘टीम में धोनी की वापसी तय नहीं, विदाई के हकदार हैं माही’

महेंद्र सिंह धोनी के क्रिकेट करियर के भविष्य को लेकर लगातार सवाल खड़े हो रहे हैं, जिस पर टीम इंडिया के पूर्व हेड कोच अनिल कुंबले ने बड़ा बयान दिया है। टीम इंडिया के पूर्व हेड कोच अनिल कुंबले ने महेंद्र सिंह धोनी की टीम में वापसी को लेकर आशंका जताई है। अनिल कुंबले ने इशारों ही नहीं, बल्कि साफ तौर पर धोनी की वापसी को लेकर बड़ा बयान दे दिया। जी हां, अनिल कुंबले ने धोनी और चयनकर्ताओं को आपस में बातचीत करने की सलाह भी दे डाली हैं, जिसके बाद उन्होंने विदाई की नसीहत भी दे दी।

वर्ल्ड कप के दौरान से ही धोनी की बल्लेबाजी को लेकर लगातार सवाल उठाए जा रहे हैं। धोनी ने वर्ल्ड कप में धीमी बल्लेबाजी की थी, जिसकी वजह से उनकी जमकर आलोचना हुई, लेकिन बतौर विकेटकीपर धोनी ने लाजवाब प्रदर्शन किया। वर्ल्ड कप में हुई भारी आलोचना के बाद धोनी ने क्रिकेट से दो महीने का ब्रेक लिया, लेकिन उसके बाद उन्हें साउथ अफ्रीका से होने वाली सीरीज में भी जगह नहीं मिली, जिसकी वजह से अनिल कुंबले ने बड़ा दिया है। इतना ही नहीं, अनिल कुंबले ने साफ तौर पर कहा कि धोनी और चयनकर्ताओं को आपस में बातचीत कर लेनी चाहिए।

धोनी की वापसी तय नहीं

अनिल कुंबले ने महेंद्र सिंह धोनी के भविष्य पर बात करते हुए कहा कि मौजूदा टीम में माही की वापसी तय नहीं है, जिसके पीछे की वजह भी उन्होंने बताई। अनिल कुंबले ने कहा कि ऋषभ पंत बतौर विकेटकीपर अच्छा कर रहे हैं और खासकर टी-20 में उनका प्रदर्शन ठीक है, लेकिन धोनी की वापसी होना बिल्कुल भी तय नहीं है। इसी कड़ी में अनिल कुंबले ने नसीहत देते हुए कहा कि अब धोनी और चयनकर्ताओं को एक साथ भविष्य पर बातचीत कर लेनी चाहिए।

विदाई के हकदार हैं धोनी

अनिल कुंबले ने अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए कहा कि चयनकर्ताओं ने धोनी को साउथ अफ्रीका के खिलाफ होने वाले सीरीज में शामिल न करके यह साफ कर दिया है कि उन्होंने अब आगे बढ़ने का फैसला ले लिया है, जिसकी वजह से अब चीज़ें क्लियर होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि धोनी ने क्रिकेट में काफी योगदान दिया है और इसीलिए वे विदाई के हकदार हैं। ऐसी स्थिति में धोनी और चयनकर्ताओं मिलकर सारी बातें क्लियर कर लेनी चाहिए और फिर विदाई का कार्यक्रम बनाना चाहिए, क्योंकि क्लियरीटी का होना ज़रूरी है।

दो-तीन महीनों में ही लेना चाहिए फैसला

अनिल कुंबले ने कहा कि यदि चयनकर्ताओं को लगता है कि धोनी टी-20 के लिए फिट हैं, तो उन्हें आने वाले सभी मैचों में खिलाना चाहिए, ताकि उनकी फिटनेस बरकरार रहे और अगर ऐसा नहीं है, तो धोनी के भविष्य पर खुलकर बात करने से परहेज नहीं करना चाहिए। साथ ही अनिल कुंबले ने कहा कि चयनकर्ताओं को अब धोनी की विदाई पर चर्चा करनी चाहिए और इस पर फैसला अगले दो या तीन महीनों में ही लिया जाना चाहिए। बता दें कि वर्ल्ड कप के बाद से ही धोनी के संन्यास की खबरें तेज़ हो चुकी हैं, लेकिन फिलहाल उनका संन्यास लेने का कोई मूड नहीं है।