ब्रेकिंग न्यूज़

फैसला पलटने पर अमेरिकी कोर्ट को डोनाल्ड ट्रम्प ने दिया करारा जवाब!

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बहुचर्चित फैसले को अमेरिका की ही एक अदालत ने बदल दिया है, इस बात से डोनाल्ड ट्रम्प बहुत नाराज हैं और अब व्हाइट हाउस इस फैसले को फिर से लागू कराने के लिए विकल्पों पर विचार कर रहा है.

जज के इस फैसले पर राष्ट्रपति ट्रम्प भड़क गए :

वाशिंगटन की एक अदालत ने डोनाल्ड ट्रम्प के मुस्लिमों के अमेरिका में प्रवेश पर बेन वाले फैसले को अनुचित बताते हुए पलट दिया है. जज के इस फैसले पर राष्ट्रपति ट्रम्प भड़क गए और उन्होंने कहा, ‘चूंकि एक जज ने प्रतिबंध हटा दिया है, इससे कई सारे बुरे और खतरनाक लोग हमारे देश में घुस सकते हैं. यह एक भयानक फैसला.’ फैसले पर प्रतिक्रिया देते हुए राष्ट्रपति के कार्यालय और्निवास व्हाइट हाउस ने कहा कि व्हाइट हाउस का न्याय विभाग इस फैसले को चुनौती देगा.’

दरअसल सिएटल की एक अदालत ने ट्रम्प के फैसले पर आपत्ति जताई है, इससे पहले बोस्टन की अदालत ने भी फैसले को गलत बताया था. लेकिन वाशिंगटन की अदालत का फैसला अब पूरे अमेरिका पर लागू हो चुका है.

वहीँ डोनाल्ड ट्रम्प ने एक डिस्ट्रिक्ट जज जेम्स रॉबर्ट की खिल्ली उड़ाते हुए उन्हें ‘सो-कॉल्ड’ जज कहा और कहा कि उनका फैसला पलता जायेगा. असल में जेम्स रॉबर्ट को पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने नियुक्त किया था.

व्हाइट हाउस से जरी ट्रम्प के एक बयां में कहा गया है कि उनका फैसला आतंकवादियों को अमेरिका से दूर रखने के लिए था, वो ये कभी नहीं भूलेंगे कि उनकी जिम्मेदारी अमेरिका के लोगों को सुरक्षित और आजाद रखने की है. इसलिए उन्होंने पिछले हफ्ते आदेश पर हस्ताक्षर कर दिया था. जिससे आतंकवादियों को अमेरिका से दूर रखा जा सके.

गौरतलब है कि डोनाल्ड ट्रम्प के मुस्लिमों के बैन वाले फैसले पर 60 हजार वीजा रद्द हो गए थे, लेकिन कोर्ट के फैसले के बाद वैध वीजाधारकों को अमेरिका में एंट्री मिल जाएगी. कोर्ट ने ट्रम्प के फैसले को रद्द कर दिया है जिसके तहत 90 दिनों तक अमेरिका में आने वाले सात देशों के मुस्लिम नागरिकों पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया था. डोनाल्ड ट्रम्प के इस फैसले का पूरे विश्व समुदाय में खूब विरोध किया गया था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Close