केजरीवाल का असली चेहरा आया सामने, आम आदमी पार्टी के चंदे में 27 करोड़ का घोटाला!

दिल्ली की सत्ताधारी आम आदमी पार्टी की चुनावी फंडिंग और उसके चंदे पर हमेशा से सवाल उठते रहे हैं. इसी क्रम में एक बार फिर आम आदमी पार्टी की फंडिंग सवालों के घेरे में है. इनकम टैक्स विभाग की एक रिपोर्ट के अनुसार आम आदमी पार्टी के चंदे में 27 करोड़ रूपये के घोटाले की बात सामने आई है.

27 करोड़ रूपये की गड़बड़ी:

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने चुनाव आयोग के रिपोर्ट सौंपी है जिसमें यह बताया गया है कि आम आदमी पार्टी के बही खातों में 27 करोड़ रूपये की गड़बड़ी सामने आई है. साथ ही विभाग ने चुनाव आयोग को कई कमियों के बारे में भी बताया है.

आयकर विभाग की इस रिपोर्ट को आम आदमी पार्टी के संयोजक और दिल्ली के सीएम केजरीवाल ने पीएम मोदी की साजिश बताया है. केजरीवाल ने पीएम मोदी को बेशर्म तानाशाह बताते हुये कहा कि आप गोवा और पंजाब में बुरी तरह हारोगे, चुनाव से 24 घंटे पहले जीतने वाली पार्टी का रजिस्ट्रेशन रद्द करवा दो.

गौरतलब है कि जनप्रतिनिधित्व कानून के तहत सभी राजनीतिक दलों को अपने खातों की ऑडिट रिपोर्ट इनकम टैक्स विभाग में जमा करानी होती है. ऐसे में आम आदमी पार्टी के 2013-14 और 14-15 की ऑडिट रिपोर्ट में 27 करोड़ की गड़बड़ी का खुलासा हुआ, खातों से चंदा देने वाले लोगों के नामों का सही मिलन नहीं हो सका.

इस तरह से यह आयकर कानून में राजनीतिक पार्टियों को दी जाने वाली विशेष छूट का उल्लंघन है. इस स्थिति में आम आदमी पार्टी का रजिस्ट्रेशन भी रद्द हो सकता है. लेकिन ये दोनों कार्रवाई चुनाव आयोग के अधिकार क्षेत्र में है. अगर चुनाव आयोग चाहे तो पार्टी पर कार्रवाई कर सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.