समाचार

ATM से ऐसे चोरी होते हैं पैसे, कार्ड मशीन में डालने से पहले देख ले ये Video

हर बैंक अपने ग्राहकों को एक ATM कार्ड प्रोवाइड करती हैं. इस कार्ड की सहयात से आप किसी भी एटीएम मशीन से पैसे निकाल सकते हैं. यह एक अच्छी सुविधा हैं जो 24 घंटे उपलब्ध रहती हैं और हमें बैंक की लंबी लाइन से भी बचाती हैं. हालाँकि जहाँ इसके फायदे हैं तो वहीं कुछ नुकसान भी हैं. दरअसल इन दिनों एटीएम फ्रॉड के कई सारे केस हो रहे हैं. जानकारी के मुताबिक ये सभी धोखाधड़ी रात्री 11 बजे से लेकर सुबह 6 बजे के बीच में सबसे ज्यादा होती हैं. ऐसे में आरबीआई ने सभी बैंकों को सख्त निर्देश जारी किए हैं कि वे इस तरह के ATM फ्रॉड को रोकने के लिए जल्द कोई कदम उठाए.

ATM फ्रॉड रोकने के लिए बैंक उठाएगी ये कदम

इस तरह की एटीएम धोखाधड़ी को रोकने के लिए बैंक जल्द ही 10,000 से अधिक रुपए निकालने पर आप से मोबाइल में आया OTP (वन टाइम पासवार्ड) मांगेगी. इसे डालने के बाद ही आप फिर एटीएम से दस हजार से अधिक की रकम निकाल पाओगे. इस प्रक्रिया को केनरा बैंक ने अपने ATMs में लागू कर दिया. उम्मीद की जा रही हैं कि जल्द ही बाकी बैंक भी इसे लागू कर देगी. इसके अतिरिक्त दिल्ली स्टेट लेवल बैंकर्स कमिटी (SLBC) ने भी एक सलाह दी थी जिसके तहत आपको दो एटीएम ट्रांजैक्शन के बीच में 6 से 12 घंटे का समय रखना चाहिए. यानी यदि आप एटीएम से एक बार पैसा निकलने के बाद दोबारा निकालना चाहते हैं तो आपको 6 से 12 घंटे का इंतज़ार करना पड़ेगा. हालाँकि ये नियम लागू होता हैं या नहीं स्पष्ट नहीं हैं. ये सिर्फ एक सुझाव था जिस पर आरबीआई विचार कर सकती हैं. बता दे कि साल 2018-19 में देशभर में 980 एटीएम फ्रॉड केस हुए हैं.

ऐसे होता हैं ATM फ्रॉड

ATM से पैसे निकालने के लिए मुख्य रूप से दो चीजों की आवश्यकता होती हैं. पहला आपका डेबिट कार्ड और दूसरा आपका एटीएम का पिन यानी कि पासवार्ड. यदि ये दोनों चीजें किसी ने धोखे से हासिल कर ली तो वो आपके अकाउंट से आसानी से पैसे निकाल सकता हैं. इस तरह के धोखो को कई तरह से अंजाम दिया जाता हैं. मसलन यदि कोई आप से फ़ोन पर या किसी और माध्यम से आपका कार्ड का नंबर, अकाउंट डिटेल और पिन या ओटीपी की जानकारी मांगे तो ये उसे कभी ना दे. कई बार ये फ्रॉड लोग बैंक से बोल रहे हैं या फलाना कंपनी से बोल रहे हैं आपको गिफ्ट या लोटरी मिल रही हैं. इस तरह से भी बेवक़ूफ़ बनाते हैं. इनका दूसरा तरीका ये होता हैं कि यह एटीएम मशीन के अंदर ही कुछ डिवाईस लगा देते हैं जिस से उन्हें आपके पिन नंबर और डुप्लीकेट कार्ड बनाने में आसानी होती हैं. इस बात को समझने के लिए आप ये विडियो देखे.

बचने के लिए देखे ये Video

तो जैसा कि आप ने विडियो में देखा ये अपराधी कितने शातिर होते हैं. इसलिए बेस्ट यही हैं कि आप अपने अकाउंट की कोई भी जानकारी किसी को फोन पर ना दे. यदि कोई समस्यां या डाउट हैं तो सीधा बैंक जाकर संपर्क करे. इसके अतिरिक्त एटीएम से पैसा निकालते समय ये सुनिश्चित कर ले कि उसमे कोई ऐसा डिवाईस तो नहीं लगा जो आपका पिन या कार्ड की जानकारी चुरा सकता हैं.

इसे ज्यादा से ज्यादा शेयर कर दूसरों को भी सतर्क करे.

Back to top button
?>