विशेष

बीजेपी सांसद नामग्याल की पत्नी रह चुकी हैं JNU की छात्रा, कन्हैया कुमार को लेकर दिया बड़ा बयान

जम्मू कश्मीर से आर्टिकल 370 हटने के बाद लद्दाख के बीजेपी सांसद जमयांग सेरिंग नमग्याल ने संसद में जो बेमिसाल भाषण दिया था उसके बाद तो वे उस दिन संसद के हीरो बन गए थे। उन्होने पीएम मोदी की तारीफ में जो भाषण दिया उसे सुनकर हर किसी का दिल खुश हो गया। इंटरनेट वे वायरल हो गए और लोगों ने इन्हें फॉलो करना शुरु कर दिया। ट्विटर ने भी इन्हें ब्लू टिक वाला वीआइपी लेबल दे दिया। इसके बाद लोग इनके बारे में सर्च करने लगे और इसी से पता चला कि बीजेपी सांसद नामग्याल की पत्नी रह चुकी हैं JNU की छात्रा, चलिए जानते हैं कुछ दिलचस्प पहलू।

बीजेपी सांसद नामग्याल की पत्नी रह चुकी हैं JNU की छात्रा

जम्मू-कश्मीर के आर्टकल 370 हटाने पर बीजेपी सांसद नमग्याल ने जो स्पीच दी थी उनकी तारीफ पूरा देश करने लगा। पीएम मोदी ने भी इनके इस भाषण की तारीफ की थी। इसके बाद तो ये मशहूर हो गए और इस संबंध में जब एक न्यूज चैनल के पत्रकार उनसे बात करने घर पहुंचे तो उनकी पत्नी सोनम वांग्मो को लेकर भी कुछ बातचीत हुई। चैनल से खास बातचीत के दौरान नमग्याल ने बताया कि उनकी पत्नी उनका खूब सहयोग करती हैं और वहीं उनकी पत्नी ने भी चैनल को बताया कि वे भी बहुत सारे भारतीयों की तरह संसद में उनके भाषण से काफी प्रभावित हुई थीं। सच में वे उसके बाद काम में व्यस्त रहने लगे। सोनम वांग्मों ने बताया कि उन्होने दिल्ली के जेनयू से पढ़ाई की है और सोनम ने कन्हैया का पक्ष लेते हुए कहा कि उन्हें लगता है कि कन्हैया कुमार के साथ गलत हुआ है। वो वीडियो और ऑडियो भी फर्जी थे। ये सब उनके हॉस्टल के सामने ही हुआ था और उन्हें पता है कि कन्हैया उस समय वहां मौजूद नहीं था। वे सिर्फ इसलिए गिरफ्तार हुा क्योंकि वो एक छात्र नेता था। इसके अलावा आपको बता दें कि भाजपा सांसद नमग्याल से 6 महीने की शादी पर सोनम ने कहा कि राजनीति में आने के बाद उनके बीच कई तरह से मतभेद होते थे और नमग्याल हमेशा उन्हें समझाया करते थे कि वो उनका प्रोफेशन है। शादी में संघी और दूसरी विचारधारा नहीं चलती है और नमग्याल ने उन्हें भाजपा और संघ की तरफ खींचने की भी काफी कोशिश की थी।

संसद में दिया भाषण हुआ था खूब वायरल

4 अगस्त, 1985 को लद्दाख के माथो गांव में जन्मे जामयांग का परिवार बुद्धिज्म है और उनके पिता का नाम स्टैनजिन दोर्जी और मां ईशे पुतित हैं। जामयांग ने जम्मू यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किया और उस समय वे काफी चर्चा में आए जब जम्मू यूनिवर्सिटी के कामयाब स्टूडेंट लीडर बने थे। वो लद्दाख के छात्र संगठन ऑल लद्दाख स्टूडेंट एसोसिएशन के 2011-12 में अध्यक्ष भी रहे। जम्मू-कश्मीर के पुनर्गठन बिल पारित होने पर कई नेता भड़क गए थे और संसद में ही पीएम मोदी को बुरा भला कहने लगे थे। तब उन्होने कहा था कि लद्दाख के लोग इस केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा दिलवाने के लिए पिछले 70 सालों से लड़ रहे हैं। जम्मू-कश्मीर को विकास निधि का अधिकतर हिस्सा मिला मगर लद्दाख को कभी कुछ नहीं मिला। गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के अन्य वरिष्ठ नेताओं की खूब तारीफ करने वाले नमग्लाल रातों-रात स्टार बन गे और उनका ये भाषण सोशल मीडिया में भी खूब वायरल हुआ।

Show More

Related Articles

Back to top button