कर्नाटक के एक मंत्री और महिला कांग्रेस प्रमुख के घर ‘इनकम-टैक्स’ के छापे में मिली 162 करोड़ रु. की संपत्ति!

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आठ नवंबर 2016 को नोटबंदी का ऐलान किया. जिसके बाद छापेमेरी में कई मंत्रियों और नेताओं के पास से नगदी बरामद की गई. इस बार आयकर विभाग ने कर्नाटक के मंत्री रमेश एल जारखिहोली और प्रदेश महिला कांग्रेस प्रमुख के परिसरों पर छापेमारी की. छापेमारी के दौरान 162 करोड़ रूपये से अधिक की अघोषित संपत्ति का पता लगाया है. छापेमारी में 41 लाख रूपये की नकदी के अलावा सोना और आभूषण भी जब्त किये गये.

छापेमारी के दौरान 162 करोड़ रूपये :

अफसरों ने बताया कि उन्हें पिछले हफ्ते मंत्री रमेश एल जारकीहोली और महिला कांग्रेस प्रमुख लक्ष्मी आर हेब्बालकर के गोकाक और बेलगाम स्थित घरों बेनामी प्रॉपर्टी की जानकारी मिली थी. छापेमारी के दौरान कई बेनामी संपत्तियों और बिना डॉक्युमेंट्स वाले इन्वेस्टमेंट के बारे में जानकारी मिली है.

इस बारे में प्रतिक्रिया देते हुए मंत्री जारखिहोली ने कहा कि उन्होंने कुछ गलत नहीं किया है और उन्होंने आरोप लगाया कि उनके परिसरों पर आयकर की छापेमारी के पीछे राजनीतिक साजिश है. उन्होंने कहा, आयकर अधिकारी बेलागावी में हमारे पास आए और हमने उनका सहयोग किया. भविष्य में भी हम आयकर अधिकारियों के साथ सहयोग करेंगे. महिला कांग्रेस अध्यक्ष लक्ष्मी ने अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है.

अधिकारियों का कहना है कि छापेमारी में मिले 162.06 करोड़ रुपये की अघोषित संपत्ति और 41 लाख रुपये की बिना स्पष्टीकरण वाली नकदी के अलावा 12.6 किलो सोना एवं जेवर होने की बात स्वीकार की गई है. जारकीहोली और लक्ष्मी हेब्बालकर की शुगर फैक्ट्री है. आयकर विभाग की तरफ से बताया गया है कि जांच के दौरान पाया गया कि इन दोनों ने सहकारी समितियों में बेनामी लेनदेन किया. बेनामी शेयर होल्डर खड़े किए और इसमें इन दोनों के परिवारवाले भी शामिल हैं.

बता दें कि नोटबंदी के बाद कई बीजेपी नेताओं के पास से भी पैसे बरामद हुए. वहीं आम जनता बैंक की लाइन में लगे रहे। इस दौरान 120 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published.