गुजरात में पाटीदार आंदोलन के प्रमुख चेहरे के तौर पर उभरे हार्दिक पटेल अपने गृह राज्य से बाहर 6 महीने का समय बिताने के बाद मंगलवार को गुजरात लौट आए. उन्होंने 17 जुलाई को गुजरात छोड़ा था, तब से वह राजस्थान के उदयपुर में रह रहे थे.

युवाओं ने हार्दिक पटेल का स्वागत किया :

गृहराज्य में वापसी के मौके पर बड़ी संख्या में पटेल समुदाय के युवाओं ने हार्दिक पटेल का स्वागत किया. राज्य में अपनी वापसी पर उन्होंने कहा, ‘मैं महान नेताओं और शहीदों की इस धरती को नमन करता हूं, मैं हमेशा अपने समुदाय को न्याय दिलाने के लिए लड़ता रहूंगा.’

हार्दिक पटेल गुजरात के पटेल समुदाय को सम्बोधित करते हुए कहा, ‘हम आपको आश्वस्त करना चाहते हैं कि हम आपको आरक्षण मिलने तक खाली हाथ नहीं बैठेंगे. हम सरकार से आरक्षण लेकर रहेंगे अगर नहीं मिला तो छीन लेंगे.’

अगस्त 2015 में हार्दिक पटेल ने आरक्षण कोटे से लाभ के लिए अपने समुदाय को ओबीसी श्रेणी में शामिल किए जाने की मांग पर जीएमडीसी मैदान में विशाल रैली का आयोजन किया था. रैली को संबोधित करने के बाद हार्दिक पटेल पूर्व मुख्यमंत्री केशुभाई पटेल का आशीर्वाद लेने गांधीनगर गए. फिर शाम को वह ‘भारतीय छात्र संसद’ में हिस्सा लेने पुणे के लिए रवाना हो गए.

Leave a Reply

Your email address will not be published.