चावल से जुड़े ये चमत्कारी टोटके बना देंगे आपको एकदम मालामाल रोज भगवान को 5 दाने चावल चढ़ाने से खुल जाती है किस्मत,

हमारे शास्त्रों में चावल को सबसे पवित्र अनाज माना गया है और पूजा के दौरान चावल का प्रयोग जरूर किया जाता है। चावल देवताओं का सबसे प्रिय अन्न भी है और इसलिए इसे देवान्न भी कहा जाता है। ऐसा माना जाता है कि अगर चावल को हल्दी या कुमकुम में मिलाकर भगवान को अर्पित किया जाए, तो भगवान प्रसन्न हो जाते हैं और हर मनोकामना पूरी कर देते हैं। भगवान को चावल अर्पित करने से क्या-क्या लाभ मिलते हैं, वो इस प्रकार हैं-

भगवान को चावल चढ़ाने से मिलते हैं ये लाभ –

मिलता है सच्चा जीवन साथी

जिन लोगों का विवाह नहीं हुआ है वो लोग सोमवार के दिन शिवलिंग पर चावल अर्पित किया करें। ऐसा करने से शिव भगवान प्रसन्न हो जाएंगे और मनचाहा जीवन साथी दे देंगे। हालांकि आप इस बात का ध्यान रखें की आप शिवलिंग पर कुमकुम और हल्दी वाले चावल ना चढ़ाएं। क्योंकि शिवलिंग पर कुमकुम और हल्दी चढ़ाना निषेध माना गया है और ऐसा करने से शिव भगवान क्रोधित हो जाते हैं।

धन की प्राप्ति होती है

रोज अपने घर में पूजा करते समय आप भगवान की मूर्ति के सामने 5 दाने चावल के चढ़ा दें। ऐसा करने से भगवान बेहद ही प्रसन्न हो जाएंगे और आपको कभी भी धन की कमी नहीं होगी।

होती है अनाज में बरकत

अन्नपूर्णा माता को अन्न की देवी माना गया है और ऐसा कहा जाता है कि अगर अन्नपूर्णा माता की मूर्ति को चावल के ढेर पर स्थापित किया जाए या फिर रोज मां को चावल अर्पित किए जाएं। तो मां घर में कभी भी अन्न की कमी नहीं होने देती है।

रोगों से रक्षा हो

सूर्य देव को जल चढ़ाते समय आप उन्हें चावल भी जरूर अर्पित करें। सूर्य देव को रोज पांच चावल के दाने अर्पित करने से सूर्य देव प्रसन्न हो जाते हैं और आपकी रक्षा कई तरह के रोगों से करते हैं।

ग्रहों को शांत रखें

अगर आपके ग्रह शांत नहीं हैं और ग्रहों की वजह से आपके जीवन में परेशानियां आ रही हैं। तो आप चावल से जुड़ा ये टोटका करें। इस टोटके के अनुसार आप पान के पत्ते पर पांच कुमकुम लगे चावल रख दें और इस पत्ते को चावल सहित जल में प्रवाहित कर दें। हर सोमवार के दिन ये टोटका करने से ग्रह शांत हो जाएंगे।

 पुण्य की हो प्राप्ति

चावल का दान करने से पुण्य की प्राप्ति होती है। इसलिए आप मकर संक्राति के दिन, अपने जन्म दिवस पर और पूणिमा के दिन चावल का दान जरूर करें। आप चाहें तो चावल की जगह गरीबों को चावल से बनी खीर भी खिला सकते हैं।

भगवान को चावल चढ़ाते समय रखें इन बातों का ध्यान –

– आप पूजा करते समय केवल सफेद रंग के ही चावल भगवान को चढ़ाएं।

– पूजा के दौरान इस्तेमाल होने वाले चावल टूटे हुए ना हों। क्योंकि टूटे हुए चावल का प्रयोग करना शुभ नहीं माना जाता है और ऐसा करने से पूजा सफल नहीं होती है।

– एकादशी के दिन आप चावल का प्रयोग पूजा के दौरान ना करें और ना ही इस दिन चावल का सेवन करें।