राजनीति

चुनाव परिणाम आते ही मोदी ने ट्विटर पर ‘चौकीदार नरेंद्र मोदी’ से नाम बदल कर किया ‘नरेंद्र मोदी’

17वे लोकसभा चुनाव के नतीजें आने के बाद एक बार फिर भारत में मोदी लहर आ गई हैं. इस चुनाव में विपक्षी दलों को मुंह की खानी पड़ी हैं. उनका महागठबंधन बनाना भी कोई काम ना आ सका. वहीँ कांग्रेस का तो जैसे सूपड़ा ही साफ़ हो गया. इस बार एनडीए के हीसे में 350 से भी ज्यादा सीटें आई. इस तरह वो देश का पहला ऐसा गैर-कांग्रेसी राजनैतिक दल भी बना जिसने दूसरी बार पूर्ण बहुतमत के आधार पर सत्ता हासिल की. केजरीवाल से लेकर कन्हैया कुमार तक बीजेपी के सामने कोई भी नहीं टिक पाया. अब अगले पांच सालो तक एक बार फिर मोदी सरकार इस देश की सेवा करेगी. इस बात में कोई शक नहीं कि बीजेपी की इस जीत के पीछे सबसे बड़ा हाथ नरेंद्र मोदी का ही था. उनका चेहरा, व्यक्तित्व और अपनी बात दूसरों के सामने रखने की कला ने लोगो के दिल पर गहरी छाप छोड़ी थी. पीएम मोदी की वजह से देश में कई सारे ट्रेंड और लाइन्स पॉपुलर हुई. इनमे से एक थी ‘मैं भी चौकीदार.’

कुछ दिनों पहले मोदी जी ने ट्विटर पर अपने नाम के आगे ‘चौकीदार’ शब्द जोड़ दिया था. साथ ही उन्होंने अपने सभी बीजेपी के नेताओं को भी ऐसा ही करने को कहा था. इसका नतीजा ये हुआ कि मोदी के कई समर्थको ने भी अपने नाम के आगे चौकीदार लगाना शुरू कर दिया. यहाँ तक कि ट्विटर पर ‘मैं भी चौकीदार’ भी काफी समय तक ट्रेंड होता चला गया. लेकिन कल 23 मई को लोकसभा चुनाव जितने के बाद मोदी जी ने ट्विटर पर से अपने नाम के आगे से चौकीदार शब्द हटा लिया. हालाँकि ऐसा करने के पीछे मोदी जी ने इसकी सही वजह भी बताई. इस बात को समझाते हुए मोदी जी ने अपने ट्विटर हंडल पर लिखा कि –

अब वक़्त आ गया हैं कि हम अपने चौकीदार के कर्तव्य को एक नए स्तर पर ले जाए. अपने अंदर के जोश को हर पल जगाए रखे और भारत की तरक्की की दिशा में कम करे. ‘चौकीदार’ शब्द भले ही मेरे नाम से जा रहा हैं लेकिन ये मेरे अंदर हमेशा जिंदा रहेगा. मैं आप सभी से विनती करता हूँ कि आप भी ऐसा ही करे.

बता दे कि ये शब्द चलन में तब आया था जब कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने राफेल डील में हुए घोटाले का आरोप मड़ते हुए मोदी जी को भ्रष्ट बताया था. तब उन्होंने ‘चौकीदार ही चोर हैं’ ट्रेंड शुरू किया था. हालाँकि इस पर पलट वार करते हुए मोदी जी ने ट्विटर पर खुद के नाम के आगे ही चौकीदार शब्द जोड़ दिया था. उन्हें फॉलो करते हुए भाजपा के अन्य सदस्यों ने भी ऐसा ही किया.

गौरतलब हैं कि मोदीजी जो भी करते हैं वो तुरंत ट्रेंड होने लगता हैं. इसके पहले भी कई मौको पर उन्होंने अपनी बातें लोगो के दिल और दिमाग में बैठा दी थी. मसलन 2014 में उनका ‘अच्छे दिन आने वाले हैं’ वाली लाइन बहुत पॉपुलर हुई थी. इसके अलावा ‘सबका साथ, सबका विकास’ भी खूब फेमस हुआ था. वैसे आपको मोदीजी की कौन सी लाइन सबसे अच्छी लगती हैं?

Show More

Related Articles

Back to top button
Close