शादी के बाद लड़की ससुराल जाए तो तुरंत करने चाहिए ये 5 काम, पुरे जीवन बीतेगा सुखद ससुराल में ये 5 काम करने से हमेशा रहोगे सुखी

जब भी किसी लड़की की शादी होने वाली होती हैं तो वो बहुत नर्वस रहती हैं. कई लड़कियों को तो काफी डर भी लगता हैं. दरअसल शादी के बाद लड़की को अपना मायका छोड़ ससुराल जाना पड़ता हैं. इस ससुराल में उसे कई सारे ऐसे लोगो के साथ रहना होता हैं जिन्हें वो ठीक से जानती नहीं हैं. ऐसे में लड़की के मन में सवाल उठने लगते हैं कि उस ससुराल के लोग कैसे होंगे? वो उसके साथ कैसा व्यवहार करेंगे? वो वहां एडजस्ट कर पाएगी की नहीं? शादी के बाद वो खुश रहेग कि नहीं इत्यादि. लड़की के मन का ये डर स्वाभाविक हैं. ऐसे में आज हम आपको कुछ ऐसे टिप्स या फिर कहे काम बताने जा रहे हैं जिन्हें यदि आप ने अपने ससुराल जाते से ही कर लिया तो आपकी बाकी की पूरी जिंदगी हंसी ख़ुशी के साथ बीतेगी.

मेल-मिलाप: शादी के बाद आप जैसे ही ससुराल जाए तो वहां सभी के साथ अच्छे से बातचीत करिए. सिर्फ उनके सवालो का ही जवाब ना दे बल्कि आप भी उनसे उनकी निजी जिंदगी के बारे में जाने. इससे ऐसा लगेगा कि आप उनमे इंटरेस्ट ले रही हैं. वो आप से इम्प्रेस हो जाएंगे. उन्हें लगेगा कि इस लड़की में बिलकुल भी घमंड नहीं हैं. ये व्यवहारिक हैं. वैसे भी शादी के बाद ससुराल में कई दुसरे रिश्तेदार भी मेहमान के रूप में रुके होते हैं. इस तरह सब से मेल जोल बढ़ाकर आप उन्हें इम्प्रेस कर सकती हैं. याद रहे हमेशा आपका फर्स्ट इम्प्रेशन ही मायने रखता हैं. इसलिए सबके सामने अपनी अच्छी इमेज बनाए.

काम चोरी ना करे: हर सास जब भी अपने घर बहू लाती हैं तो उसकी बेसिक सोच यही होती हैं कि अब उसे आराम मिल जाएगा. वहीं घर के अन्य सदस्य भी आपको शुरुआत में आपके काम काज करने की लगन से परखते हैं. इसलिए शादी के बाद शुरूआती महीनो में कोई भी काम चोरी ना करे. बल्कि आगे लेकर काम करे ताकि उन्हें लगे कि आप घर के कामो में दिचास्पी ले रही हैं और दूसरों के आराम की परवाह भी कर रही हैं. फिर कुछ महीनो बाद आप छोटे मोटे कामो में दूसरों की मदद ले सकती हैं. उस समय वे लोग भी आपकी ख़ुशी ख़ुशी मदद करेंगे.

बुराई करने से बचे: एक बड़े परिवार में अक्सर लोग एक दुसरे की पीठ पीछे बुराई करते हैं. ऐसे में हो सकता हैं कुछ लोग आपके सामने भी अन्य सदस्यों की बुराई करे. ऐसे में आप उनकी बातों में ना आए. वो जो कह रहे हैं भले ही सुन ले लेकिन किसी की स्वयं बुराई ना करे. आप खुद परिवार के लोगो को परखे और उसके बाद ही उनके प्रति अपनी कोई राय बनाए.

सभी का आदर सम्मान: इज्जत एक ऐसी चीज हैं जो दूसरों को देने से ही आपको मिलती हैं. सामने वाला व्यक्ति कितना भी बुरा क्यों ना हो यदि आप हमेशा उसके साथ अच्छा व्यवहार करोगे और उसे मान सम्मान दोगे तो वो भी आपकी इज्जत करेगा.

सासू माँ का विशेष ध्यान रखे: हर घर की मुखिया वहां की सास ही होती हैं. यदि आप शुरुआत से ही उनके साथ अच्छे से बनाकर रखेंगे तो फिर परिवार में चाहे सब आपके खिलाफ हो जाए लेकिन वो आपका साथ जरूर देगी.