समाचार

एक्टिज पोल में नरेंद्र मोदी के दोबारा पीएम बनने के दावे से डरा पाकिस्तान

लोकसभा चुनाव के एक्जिट पोल के नतीजे सामने आ गए हैं और लगभग हर एक्जिट पोल में बीजेपी पार्टी को ही अधिक सीटें दी गई हैं। इन एक्जिट पोल के मुताबिक इस बार फिर से सत्ता में बीजेपी पार्टी आ रही है और नरेंद्र मोदी एक बार फिर से हमारे देश के पीएम बनने वाले हैं। वहीं मोदी के दोबारा से पीएम बनने की खबर से पाकिस्तान की नींद उड़ गई है। पाकिस्तान के हर चैनल पर भारत के लोकसभा चुनाव के ये एक्जिट पोल दिखाए जा रहे हैं। इन एक्जिट पोल को लेकर पाकिस्तान के चैनलों पर खूब चर्चा की जा रही है और बकाइदा चैनलों पर मोदी के पीएम बनने को लेकर डिबेट भी हो रहे हैं। पाकिस्तान के चैनलों में डिबेट करते हुए ये कहा जा रहा है कि पुलवामा, बालाकोट और अभिनंदन के कारण भारत की जनता का मूड बदल गया और इससे मोदी को फायदा पहुंचा। पहले ये चुनाव महंगाई, भ्रष्टाचार, विकास और गोरक्षा जैसे मुद्दों पर बीजेपी की और से लड़ा जा रहा था लेकिन पुलवामा होने के बाद सब मुद्दे बदल गए।

बढ़ गई है पाकिस्तान की चिंता

बीजेपी की और से जम्मू-कश्मीर से धारा 370 और 35-ए हटाने के वादे को लेकर भी पाकिस्तान खूब चिंता में हैं। इस देश के चैनलों का कहना है कि अगर फिर मोदी पीएम बनते हैं तो वो अपने घोषण पत्र में किए गए जम्मू-कश्मीर से धारा 370 और 35-ए को हटाने के वादे को भी पूरा करेंगे और ऐसा होने से इसका असर पाकिस्तान पर भी जरूर पड़ेगा और कश्मीर का माहौल भी बदल जाएगा। दरअसल पाकिस्तान के विशेषज्ञ का कहना है कि भारत के ये चुनाव उनके लिए भी काफी महत्वपूर्ण है। क्योंकि बीजेपी के सत्ता में आते ही कश्मीर में हालात एकदम से बदल जाएंगे और पाकिस्तान के चरमपंथी संगठन कश्मीर की ओर चले जाएंगे। ऐसा होने पर युद्ध जैसे हालात आने वाले समय में पैदा हो सकते हैं।

हाई अलर्ट पर था पाकिस्तान

पाकिस्तान के चैनलों के अनुसार भारत में हो रहे लोकसभा चुनाव के दौरान पाकिस्तान पूरी तरह से हाई अलर्ट पर बैठा था। क्योंकि इनको इस बात का खतरा था कि चुनावी माहौल के दौरान उन पर भारत की सरकार की और से हमला ना कर दिया जाए। वहीं एक्जिट पोल के आने के बाद पाकिस्तान की चिंता और बढ़ गई है और पाकिस्तान के विशेषज्ञ का कहना है कि अगर नरेन्द्र मोदी को 5 साल और मिल गए तो वो इंडिया को बदल देंगे और मोदी के पीएम बनने से पाकिस्तान पर भी असर पड़ेगा।

गौरतलब है कि साल 2014 में पीएम बनने के बाद मोदी ने पाकिस्तान की और हमेशा कड़ा रूख रखा है और अपने पांच साल के कार्यकाल में पाकिस्तान पर दो बार सर्जिकल स्ट्राइक करवाई है। इन्हीं सर्जिकल स्ट्राइक से पाकिस्तान बेहद ही डरा हुआ है। इसके अलावा मोदी सरकार ने अंतराराष्ट्रीय स्तर पर भी पाकिस्तान को अलग-थलग कर दिया है। ऐसा में अगर मोदी फिर से पीएम बन जाते हैं तो वो पाकिस्तान के खिलाफ अपनी नीतियों को जारी रखेंगे और पाकिस्तान मोदी की इन्हीं नीतियों से घबराया हुआ है।

Back to top button