समाचार

चुनावी नतीजे से पहले ही प्रियंका ने स्वीकारी हार, कहा- ‘कांग्रेस ने कमजोर प्रत्याशी उतारे’

केंद्र की सत्ता पर काबिज होने के लिए बीजेपी और कांग्रेस ऐड़ी चोटी का बल लगाती हुई नजर आ रही हैं। दोनों ही पार्टियां केंद्र की सत्ता पर काबिज होना चाह रही है, जिसकी वजह से जुबानी जंग भी तेज़ हो गई है। इतना ही नहीं, बीजेपी और कांग्रेस चुनाव जीतने के लिए कई तरह के वादे कर चुके हैं। ऐसे में किसकी बात जनता तक सही तरह से पहुंचेगी, यह तो चुनावी नतीजे ही बताएंगे, लेकिन कांग्रेस पार्टी ने पहले से ही हार मान ली है। जी हां, चुनावी नतीजे से पहले ही प्रियंका गांधी वाड्रा का एक बयान तेज़ी से सुर्खियां बटोर रहा है, जिसमें उन्होंने पार्टी की हार स्वीकार कर ली है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

प्रियंका गांधी वाड्रा ने एएनआई न्यूज़ एजेंसी से बात करते हुए एक बड़ा बयान दिया है, जिस पर तुरंत ही संबित पात्रा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके अपनी राय दे दी है। प्रियंका गांधी वाड्रा के बयान को बीजेपी पूरी तरह से भुनाने की कोशिश कर रही है, क्योंकि उनके बयान से तो यही साफ हो रहा है कि कांग्रेस पार्टी ने चुनावी नतीजे आने से पहले ही हार मान चुकी है। दरअसल, प्रियंका गांधी वाड्रा इन दिनों उत्तर प्रदेश में कांग्रेस के लिए प्रचार प्रसार कर रही हैं, लेकिन ऐसे में इस तरह का बयान पार्टी की मुसीबतों को बढ़ाने का काम कर दिया है।

कांग्रेस ने कमजोर प्रत्याशी उतारे- प्रियंका गांधी वाड्रा

चुनावी प्रचार के दौरान मीडिया से बातचीत में प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में बीजेपी को करारी हार मिलेगी, जिन सीटों पर हमारे मजबूत प्रत्याशी हैं, वे मजबूती से खड़े हैं, लेकिन जहां थोड़े हल्के प्रत्याशी हैं, वहां हम बीजेपी का वोट काटने का काम करेंगे। प्रियंका गांधी वाड्रा के बयान का मतलब यही निकाला जा रहा है कि कांग्रेस ने उम्मीदवार जीतने के लिए नहीं, बल्कि वोट काटने के लिए मैदान में उतारे हैं, ताकि बीजेपी का थोड़ा सा वोट कट जाए।

मोदी के खिलाफ चुनाव न लड़ने पर बोलीं प्रियंका गांधी

हाल ही में प्रियंका गांधी वाड्रा के नाम की चर्चा वाराणसी से चुनाव लड़ने के लिए हो रही थी, लेकिन अब इस पर विराम लग चुका है। ऐसे में अब प्रियंका गांधी वाड्रा वाराणसी से चुनाव नहीं लड़ेंगी। इस बाबत प्रियंका ने एक सवाल का जवाब देते हुए कहा कि मैं चुनाव लड़ने के लिए नहीं आई हूं, बल्कि पार्टी का मजबूत करने के लिए आई हूं। और न ही मैं चुनाव न लड़ने की वजह से निराश हूं।

संबित पात्रा ने ली चुटकी

प्रियंका गांधी वाड्रा के बयान के तुरंत ही बाद संबित पात्रा ने कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस पार्टी पर चुटकी ले ली। संबित पात्रा ने प्रियंका गांधी के बयान का हवाला देते हुए कहा कि कभी खुद को देश की सबसे बड़ी और पुरानी पार्टी बताने वाली कांग्रेस पार्टी आज चुनाव जीतने के लिए नहीं, बल्कि वोट काटने के लिए मैदान में उतर रही है। संबित पात्रा ने आगे कहा कि उत्तर प्रदेश की महासचिव प्रियंका गांधी ने यह स्वीकार कर लिया कि उनकी पार्टी इस चुनाव में सिर्फ वोट ही काट सकती है।

Back to top button