बीजेपी में शामिल हो सकते हैं बॉलीवुड स्टार सनी देओल, यहाँ से लड़ सकते हैं चुनाव पिता धर्मेंद्र और सौतेली मां हेमा मालिनी के बाद अब बेटे सनी देओल को राजनीति में उतारना चाहती है बीजेपी, खुद अमित शाह पहुंचे सनी पाजी को मनाने

लोकसभा चुनाव-2019 का दौर चल रहा है और ऐसे में आम लोग क्या फिल्मी सितारों के बीच भी राजनीति और कौन बनेगा प्रधानमंत्री इसपर चर्चाएं चल रही हैं. जहां बॉलीवुड भी दो हिस्सों में बंट गया है जिसमें एक ओर अपील की जा रही है कि बीजेपी को वोट नहीं करें तो कुछ सेलिब्रिटीज कह रहे हैं कि एक बार और नरेंद्र मोदी को मौका मिलना चाहिए. सितारे अपनी फेवरेट पार्टी ज्वाइन भी कर रही हैं. पिछले दिनों उर्मिला मातोंडकर ने कांग्रेस ज्वाइन की तो वहीं भोजपुरी सिनेमा के सुपरस्टार दिनेश लाल निरहुआ ने बीजेपी ज्वाइन कर ली. देओल खानदान से हेमा मालिनी ने पहले ही भाजपा ज्वाइन की थी लेकिन अब खबर है कि बीजेपी में शामिल हो सकते हैं बॉलीवुड स्टार सनी देओल, हालांकि इसकी पूरी तरह से पुष्टि नहीं हुई है लेकिन बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह सनी देओल से मुलाकात करते स्पॉट किये गए.

बीजेपी में शामिल हो सकते हैं बॉलीवुड स्टार सनी देओल

बीजेपी अपने कैंडिडेट बहुत तीखी निगाहों से ढूंढती है और यही कारण है कि उनकी मजबूती बढ़ती जा रही है. भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अभिनेता सनी देओल को मनाने पहुंच गए. पुणे में हुई एक बैठक का नतीजा क्या निकला ये तो किसी को नहीं पता लेकिन इतना जरूर साफ हुआ है कि भाजपा और अमित शाह कोई कसर नहीं छोड़ना चाहते हैं. हालांकि गुरुदासपुर सीट पर भी तक किसी का नाम तय हनीं है, और आपको बता दें कि दिवंगत विनोद खन्ना गुरुदासपुर सीट से सांसद रह चुके हैं. साल 2017 में विनोद खन्ना के निधन के बाद ये सीट कांग्रेस के खाते में आ गई थी क्योंकि साल 2017 में उपचुनाव में इस सीट पर कांग्रेस के सुनील जाखर ने जीत ली थी. सनी देओल के पिता धर्मेंद्र और स्टैप मां हेमा मालिनी का भी राजनीति से पुराना नाता है. धर्मेंद्र बीजेपी के टिकट पर साल 2004 में राजस्थान के बीकानेर सीट से चुनाव लड़े और जीत भी हासिल की. वहीं हेमा मालिनी अभी भी मथुरा से सांसद हैं. अमरोहा के भाजपा नेता तरुण राठी ने शुक्रवार शाम अपने फेसबुक वॉल पर एक फोटो शेयर की जिसमें अमित शाह और सनी देओल बैठे हैं.

राठी ने लिखा, ‘आज पुणे में प्रिय मित्र सनी देओल और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह जी के साथ लोकसभा चुनाव को लेकर चर्चा रही.’ राठी ने इस फोटो के बारे में कुछ नही बोला लेकिन इतना तो तय है कि अमित शाह भाजपा से सनी देओल को अमृतसर से लड़ाने की कोशिश में हैं. अमृतसर में पिछली बार भाजपा के दिग्गज नेता अरुण जेटली को कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एक लाख वोट से हरा दिया था. पीएम नरेंद्र मोदी की प्रचंड लहर में इस हार को पार्टी पचा नहीं पाई और यहां से जीतना भाजपा के लिए एक बड़ा सवाल है. हाल ही में अमृतसर में राष्ट्रिय स्वयंसेवक संघ के शहरवासियों से फीडबैक लिया गया कि यहां पर कैसा उम्मीदवार होना चाहिए लेकिन किसी ने ठीक से जवाब नहीं दिया.

तय नहीं कब शामिल होंगे सनी देओल

पार्टी के सीनियर नेताओं की कई बार सनी देओल से बातचीत हो चुकी है लेकिन अभी तय नहीं है कि वो कब तक पार्टी में शामिल होंगे हालांकि ये बात सामने आई है कि जब किसी से बात नहीं बनी तो अमित शाह खुद सनी देओल को मनाने पहुंच गए थे. अब वो माने हैं या नहीं ये बात तो आने वाले समय में पता चल ही जाएगी. सनी देओल की पंजाब में फैन फॉलोविंग बहुत ज्यादा है और फिल्म गदर एक प्रेम कथा और बॉर्डर जैसी फिल्मों में सरदारों की भावनाओं को अच्छे से पेश करने पर यहां के आम लोग सनी देओल के करीब आई थी तो हो सकता है कि इसलिए ही अमित शाह उन्हें अमृतसर से उतारने के चक्कर में हों.