इन 5 टिप्स से रखिए अपने नये या पुराने कूलर को ठंडा, रूम ठंडा करने में देगा एसी को टक्कर गर्मी में इन आसान उपायों से अपने कूलर में पाएं एसी जैसी हवा और इसे करने के लिए आपको पूरी डिटेल पता होनी चाहिए इससे कम खर्चे में पाएं एसी जैसी हवा

मार्च आते ही लोग अपने-अपने घरों में कूलर साफ करने लगते हैं क्योंकि इसके बाद गर्मी शुरु हो जाती है और लोगों के घरों मे कूलर या एसी ऑन हो जाते हैं. आमतौर पर लोगों के यहां कूलर ही होता है जिसमें पूरा परिवार एक साथ आराम करता है. मगर किसी-किसी कूलर में कम हवा के कारण सारा मजा किरकिरा भी हो जाता है और ऐसे में आपको बहुत ज्यादा गर्मी का सामना करना पड़ता है. हम आपको कुछ ऐसी जानकारी देंगे जिससे गर्मी में इन 5 टिप्स से रखिए अपने नये या पुराने कूलर को ठंडा, इसे एक बार तो जरूर अपनाएँ.

गर्मी में इन 5 टिप्स से रखिए अपने नये या पुराने कूलर को ठंडा

अप्रैल शुरु हो गया है और ऐसे में गर्मी भी अपना रंग दिखाने लगी है. तापमान में डेली बढ़ोत्तरी हो रही है और ये बढ़ती ही जाएगी और टेम्परेचर 40 डिग्री के पार हो चुका है. ऐसे में गर्मी से रहात के लिए एसी या कूलर का सहारा है और एसी खरीदना हर किसी के बजट का हिस्सा नहीं हो पाता इसलिए लोग कूलर खरीदना सही समझते हैं. जहां एक ओर एसी का बिल भी ज्यादा आता है तो कूलर ही अच्छा साबित होता है. मगर कभी-कभी कूलर ज्यादा ठंडी हवा नहीं दे पाता ऐसे में आपको इन टिप्स का सहारा लेना चाहिए.

कूलर खुली जगह रखें

कूलर नया हो या फिर पुराना लेकिन उसे हमेशा खुली जगह पर ही रखें. हो सके तो कूलर को घर की खिड़की पर फिक्स कर दीजिए जिससे कूलर अपनी ठंडी हवा देने का बहाना मिल सके. कूलर जितना खुले में रहता है ठंडी हवा उतनी ज्यादा आती है. अगर आपने घर में कूलर रख दिया तो कमरा ठंडा नहीं हो पाता है.

कूलर पर नहीं लगे धूप

कूलर को घर की जिस भी खुली जगह पर रखें लेकिन इस बात का ख्याल रहे कि उसमें बिल्कुल भी धूप नहीं लगनी चाहिए. इसके साथ ही उसका पानी भी तेजी से खत्म होता है और अगर खिडकी पर रखे कूलर पर धूप आती है तो वहां कूलर के ऊपर चादर डाल देने से ये समस्या नहीं आती और कूलर ठंडा करता है.

वेंटिंलेशन होना जरूरी होता है

कई घर में कूलर लगा होता है लेकिन वेंटिलेशन नहीं होता. कूलर की हवा में ठंडक तभी आती है जब उसे कमरे से बाहर निकलने की जगह मिल सकेगी. ऐसे में घर की खिड़की, रोशनदान या हवा बाहर निकलने का दूसरा रास्ता खुला होना चाहिए.

कूलर की घास बदलना जरूरी होता है

कूलर की जाली में जो घास लगी होती है उसमें धूल जम जाती है और ठंडी हवा वहीं रुक जाती है इसलिए कूलर को साथ करना जूररी होता है. अगर उसमें धूल रहे तो हवा आने का रास्ता ब्लॉक हो जाता है इसलिए ऐसे में जरूरी है कि हर महीने कूलर की घास को बदल दें. घास को कभी भी घना नहीं रखें उसके बीच गैप होन बेहद जरूरी होता है.

पानी का फ्लो करते रहें चेक

कूलर में इस्तेमाल होने वाले वाटर पंप से पानी का फ्लो सही है या नहीं इस बात का खास ख्याल रखें. इसके साथ ही पानी की ट्रे में पानी निकलने वाले होल बंद तो नहीं हो गए इसे भी चेक करते रहें, अगर पानी घास तक नहीं पहुंचेगा तो हवा ठंडी कभी नहीं आती.