पीएम मोदी ने दिया बुर्जुगों, किसानों और महिलाओं को न्यू ईयर गिफ्ट :  बेइमान को दी चेतावनी

नयी दिल्ली –प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 31 दिसंबर 2016 यानी आज नोटबंदी को लेकर राष्ट्र को संबोधित करते हुए कहा कि दिवाली के बाद देश ने एक बड़ा फैसला लिया। पीएम ने कहा कि अब नए संकल्प और उमंग के साथ देश के नागरिक नए साल में कदम रखेंगे। लोगों ने बुराई के खिलाफ सरकार का पूरा साथ दिया है। सरकार और देशवासी भ्रष्टाचार के खिलाफ कंधा से कंधा मिलाकर लड़ाई लड़ रहे हैं। पीएम मोदी ने शनिवार रात ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के गरीबों, मध्यम वर्ग, महिलाओं, वरिष्ठ नागरिकों के लिए कई योजनाओं की घोषणा की और साथ ही चेतावनी दी कि बेईमानों के खिलाफ कानून पूरी ताकत से कार्रवाई करेगा। PM Modi on eve of new year.

 

किसानों का 60 दिन का ब्याज किया माफ –

अपने संबोधन में पीएम ने कहा कि किसानों के कर्ज का 60 दिन का ब्याज सरकार वहन करेगी। उन्होंने कहा कि नाबार्ड ने किसानों के लिए पहले 21 हजार करोड़ की व्यवस्था की थी, लेकिन अब इसमें बढ़ाया जाएगा। नाबार्ड को जो नुकसान होगा उसे सरकार वहन करेगी। इसके अलावा अगले 3 महीने में 3 करोड़ किसान क्रेडिट कार्ड को रुपे कार्ड में बदला जाएगा। छोटे कारोबारियों को बैंकों से 2 करोड़ रुपये तक के ऋण पर क्रेडिट गारंटी दी जाएगी। बैंकों को निर्देश दिया जाएगा कि वह इनके लिए नगदी क्रेडिट करें। छोटे कारोबारियों पर लगने वाले टैक्स को 8 से 6 फीसदी किया जाएगा।

 

आशियाने के लिए कर्ज पर 4 फीसदी तक छूट –

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत दो नई योजनाएं शुरू करने की घोषणा करते हुए पीएम ने कहा कि इसके तहत साल 2017 में घर बनाने के लिए 9 लाख रुपये तक के कर्ज पर ब्याज में 4 फीसदी छूट दी गई है। 12 लाख रुपये तक के कर्ज में 3 फीसदी की छूट दी गई है। साथ ही ग्रामीण क्षेत्र में घर को बड़ा करने या एक और कमरा बनवाने के लिए 2 लाख रुपये तक के कर्ज पर 3 फीसदी की छूट मिलेगी। मौजूदा समय 10 प्रतिशत के करीब ब्याज दर पर चल रहे गृह ऋण में इस छूट के मुताबिक निम्न और मध्यम वर्ग के लोगों को बड़ी राहत मिलेगी।

 

वरिष्ठ नागरिकों के लिए पीएम की सौगात –

प्रधानमंत्री ने वरिष्ठ नागरिकों के लिए भी एक योजना की शुरुआत की है. वरिष्ठ नागरिकों के लिए योजना का उल्लेख करते हुए प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, “सरकार वरिष्ठ नागरिकों पर विशेष ध्यान देने जा रही है, जिसके मद्देनजर उनके लिए एक योजना शुरू करने का फैसला किया गया है। इसके तहत वरिष्ठ नागरिकों को 7.5 लाख रुपये की राशि पर 10 साल के लिए सालाना आठ फीसदी की ब्याज दर सुनिश्चित की जाएगी, जो स्थिर होगी, अर्थात बैंक द्वारा ब्याज दरें घटाने का इस पर कोई असर नहीं पड़ेगा। इस ब्याज को वरिष्ठ नागरिक हर महीने बैंक से निकाल सकते हैं।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.