मुंह की दुर्गंध और कब्ज जैसी गंभीर बीमारियों से राहत देता है गन्ने का जूस, जानिए इसके कई फायदे गन्ने का रस साधारण सर्दी और दूसरे संक्रमणों को ठीक करने में मदद करता है और बुखार आने पर भी ये उसे सही करता है क्योंकि यह शरीर के प्रोटीन स्तर को बढ़ाता है.

गर्मी शुरु होते ही भारत के गली-गली और चौराहों पर गन्ने के जूस की शुरुआत हो जाती है. धूप में पसीने से तरबतर होकर जब ठंडा-ठंडा गन्ने का जूस शरीर के अंदर जाता है वो फीलिंग सबसे अलग होती है. अगर आप भी गन्ने के जूस के शौकीन हैं तो इसे रेगुलर पीजिए और अगर किसी को ये नहीं पसंद है तो इसे एक दवा के रूप में ही सही लेकिन पीजिए क्योंकि गन्ने का जूस ना सिर्फ आपके अंदर की गर्मी को मिटाता है बल्कि इसे पीने से कई सारे फायदे भी होते हैं. यह एंटीऑक्सिडेंट में समृद्ध है इसलिए यह संक्रमण से लड़ने और प्रतिरक्षा को बढ़ावा देने में मदद करता है. इसमें आयरन, मैग्नीशियम, कैल्शियम और दूसरे कई प्रोटीन होते हैं. मुंह की दुर्गंध और कब्ज जैसी गंभीर बीमारियों से राहत देता है गन्ने का जूस, इसके अलावा भी कई बीमारियां हैं जिन्हें गन्ने का जूस खत्म करता है.

मुंह की दुर्गंध और कब्ज जैसी गंभीर बीमारियों से राहत देता है गन्ने का जूस

गन्ने का रस साधारण सर्दी और दूसरे संक्रमणों को ठीक करने में मदद करता है और बुखार आने पर भी ये उसे सही करता है क्योंकि यह शरीर के प्रोटीन स्तर को बढ़ाता है. इसके अलावा गन्ने के रस में कुछ और भी बेहतरीन स्वास्थ्य लाभ होते हैं जिनके बारे में आपको जरूर जानना चाहिए. 28.35 ग्राम गन्ने के रस में पोषक तत्वों की मात्रा कई तरह से होती हैं. जिसमें ऊर्जा 111.13KJ, कार्बोहाइड्रेट्स- 27.51 ग्राम, प्रोटीन -0.27 ग्राम, कैल्शियम- 2.2 मिलीग्राम, आयरन 0.37 मिलिग्राम, पोटेशियम 41.96 मिलीग्राम और सोडियम 17.01 मिलिग्राम पाया जाता है. अब जानिए इसके कुछ और फायदे..

किडनी स्टोन

गन्ने के रस के सबसे महत्वपूर्ण स्वास्थ्य लाभों में यह है कि गन्ने का रस एक मूत्रवर्धक पेय जल होता है. इसका मतलब कि मूत्र त्यागने के रास्ते से संग्रमण, गुर्दे की पथरी का इलाज किया जा सकता है और गुर्दे के समुचिक कामों को भी सुनिश्चित करता है.

पीलिया

आर्युवेद के मुताबिक, गन्ने का रस आपके लिवर को मजबूत बनाने का भी काम करता है और पीलिया में भी फायदा करता है. पीलिया एक ऐसी स्थिति है जो प्रोटीन की कमी को भी पूरा करता है और शरीर को पोषण भी प्रदान करता है.

थकान में एनर्जी

गन्ने के रस में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, आयरन, पोटेशियम और दूसरे जरूरी तत्व होते है जो बॉडी के सेल्स को इनक्रीज करते हैं. खासतौर पर गर्मियों में एक गिलास ठंडा गन्ने का रस बुझे हुए आदमी के अंदर एनर्जी के साथ-साथ खास हिम्मत भी देने का हौसला दे देता है.

मुंह की दुर्गंध

गन्ने के रस में खनिजों में बहुत ही समृद्ध होता है जो दांतों की सड़न और खराब सांस को रोकने में मदद करता है. आपको बता दें कि दांतों में सड़न या खराब सांस की वजह से व्यक्ति के मुंह से दुर्गंध आती है.

कब्ज की शिकायत

आर्युवेद में ये बताया जाता है कि गन्ने का रस रेचक गुणों को प्रदर्शित करता है, जिसमें मल त्याग में आने वाली परेशानियां दूर होती हैं. गन्ने के रस में क्षारीय हुण भी होते हैं जिसका मतलब ये है कि अम्लता और पेट की जलन के लिए बेहतर पेयजल होता है.