विशेष

इस साधु बाबा के सिर्फ 1 वोट के लिए बनाया जायेगा पोलिंग बूथ, बब्बर शेरों के बीच रहता है ये वोटर

जब से लोकसभा चुना 2019 की घोषणा हुई है तब से देश में खूब हलचल का माहौल है. जगह-जगह चुनावी मुद्दों पर बातें हो रही हैं, नेता हों या फिर न्यूज एंकर सभी जोर-जोर से एक ही बात चिल्ला रहे हैं कि कौन बनेगा भारत का अगला प्रधानमंत्री और क्या कोई नरेंद्र मोदी से भी ज्यादा गरजकर भाषण दे सकता है. देश की जनता अलग-अलग भागों में बंट गई है किसी को नरेंद्र मोदी की सरकार फिर चाहिए तो किसी को कांग्रेस का साथ फिर याद आ रहा है लेकिन कांग्रेस से राहुल गांधी प्रधानमंत्री के उम्मीदवार हैं ऐसे में टक्कर कितनी है ये तो आप समझ ही गए होंगे. हर जगह वोट डालने के लिए बूथ बनाए जा रहे हैं लेकिन एक ऐसी भी जगह है इस साधु बाबा के सिर्फ 1 वोट के लिए बनाया जायेगा पोलिंग बूथ, बहुत ही दिलचस्प है ये खबर.

इस साधु बाबा के सिर्फ 1 वोट के लिए बनाया जायेगा पोलिंग बूथ

लोकसभा चुनाव की घोषणा हो गई है और इस कड़ी में गुजरात के गीर के जंगलों से एक दिलचस्प खबर सामने आई है. आपको जानकर हैरानी होगी कि गुजरात में एक ऐसा भी पोलिंग बूथ है जहां पर एक मात्र मतदाता है और ये खबर जूनागढ़ के गीर के जंगल में बाणेज नाम की एक जगह पर है. यहां पर एक धार्मिक स्थल है जहां पर भरतदास बापू नाम के एक साधु रहते हैं और चुनाव आयोग इनके लिए मतदान की खास व्यवस्था करता है. महंत भरतदास बापू के लिए देश का निर्वाचन आयोग मतदान की खास संपूरण व्यवस्था कराता है और गीर के जंदल के बीचोंबीच बाण गंगा महादेव के मंदिर के महंत भरतादस गुरु दर्शनदास एक ही मतदाता है और उन्हें वोट देना होता है. इसके बारे में जूनागढ़ के कलेक्टर डॉ.सौरभ पारधी ने बताया कि हमारे एक मतदाता के लिए चुनाव आयोग पूरी व्सवस्था कराता है. इस बार भी गुजरात के वन विभाग द्वारा गीर के जंगल में ही और बाणेज मंदिर के पास एक खास पोलिंग बूथ बनाया जाएगा.

यह पोलिंग बूथ गीर-सोमनाथ जिले के गीर-गड्ढा चुनाव क्षेत्र का है और ये जंगल में 55 किमी. की दुरी पर है. भरतदास बाबा के मतदान के लिए प्रशासन ने खास पोलिंग पार्टी भी बनाई गई है. बाणेज नाम का ये मंदिर जंगल के बीचोबीच है. यहां आने जाने के लिए बहुत सी समस्याएं होती हैं क्योंकि ये इलाका बब्बर शेर का है और यहां वो अकेले महंत हैं जो बाणेज नाम के इलाके में गंगा महादेव के प्राचीन मंदिर की देखरेख करते है.

शहर या गांव से बहुत दूर है बाणेज

कई सालों से महंत भरतदास बाबा अकेले ही रहते हैं. कोई भी साधु महाराज यहां आता है लेकिन जल्दी नहीं और बहुत सालों से तो कोई भी नहीं गया. जहां पर साधु महाराज रहते हैं वह जगह किसी भी शहर या गांव से कम से कम 30 किमी. की दूरी पर स्थित है. साधु महाराज अकेले ऐसे मतदाता है जिनके लिए चुनाव आयोग हर साल मतदान करने के लिए खास इंतजाम कराता है और महंतजी अपना कीमती वोट देकर अपने मताधिकार होने का फर्ज हर बार अदा करते हैं.

Show More

Related Articles

Back to top button
Close