क्या अमेरिका की फटकार पर पाकिस्तान ने अभिंनदन को किया रिहा ? जानिए क्या है पूरा मामला पाकिस्तान के चंगुल में फंसे भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन को छोड़ने का फैसला पाकिस्तान सरकार ने किया. विंग कमांडर भारत लौट आएंगे

26 फरवरी को भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान पर एयर सर्जिकल स्ट्राइक की और इसकी जवाबी कार्यवाही में पाकिस्तान ने 27 फरवरी को अपना F16 भारत भेजा. पाकिस्तान ने ये कार्यवाही भारत को डराने के लिए की थी लेकिन उनका F16 का पीछा करने के लिए भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन ने अपनी मिग-21 से किया. मगर गलती ये हो गई कि वो POK पहुंच गए और वहां पाकिस्तानी सेना ने अभिनंदन के मिग-21 को क्रैश कर दिया और कमांडर को गिरफ्तार कर लिया. अभिनंदन ने बहुत ही दिलेरी के साथ अपना फर्ज निभाते हुए सारे मैप और सबूत मिटा दिए जिसका इस्तेमाल पाकिस्तान कर सकता था. मगर 28 फरवरी की शाम अचानक पाकिस्तान ने अभिनंदन को छोड़ने का फैसला किया लेकिन ऐसा क्यों हुआ ? क्या अमेरिका की फटकार पर पाकिस्तान ने अभिंनदन को किया रिहा ? इसके पीछे की सच्चाई आपको जरूर जाननी चाहिए.

क्या अमेरिका की फटकार पर पाकिस्तान ने अभिंनदन को किया रिहा ?

पाकिस्तान के चंगुल में फंसे भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन को छोड़ने का फैसला पाकिस्तान सरकार ने किया. विंग कमांडर भारत लौट आएंगे और पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने अपने देश के संसद में इस बात को खुद बताया. अभिनंदन के पाकिस्तान सेना द्वारा पकड़े जाने के बाद से ही भारत सरकार हरकत में है और पाकिस्तान के इस फैसले से सभी को लगता है कि ये मोदी सरकार का असर है.

मगर विंग कमांडर अभिनंदन के भारत आने का दो कारण है एक तो जेनेवा संधि के अधीन युद्ध जैसे माहौल बनने पर कोई देश विरोधी देश की सेना को हिरासत में नहीं रख सकते और अगर रखा भी तो जल्द से जल्द उन्हें लौटाना होता है. इसके अलावा दूसरी वजह से ये है कि अजीत डोभाल ने अमेरिका के सेक्रेटरी ऑफ स्टेट माइक पॉम्पेओ को फोन किया और उनसे लंबी बातचीत की.

इस बातचीत में डोभाल ने सारी बात उनसे कही और देश की स्थिति भी बताई. इस लंबी बातचीत के दौरान अमेरिका के सेक्रेटरी ऑफ स्टेट ने पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी से फोन पर बात की. अमेरिका के सेक्रेटरी ऑफ स्टेट ने पाकिस्तान से कहा. ‘आप इस समय कमजोर स्थिति में है ऐसे में आपको हालात को समझकर ही कोई एक्शन लेना चाहिए आखिर ये देश की बात है.’ इसके बाद ही पाकिस्तान की एक मीटिंग हुई और पीएम इमरान खान ने विंग कमांडर को छोड़ने की घोषणा कर दी. दरअसल जेनेवा कनवेंशन के अनुसार अगर युद्ध कैदी तो नहीं छोड़ता तो इसे एक युद्ध भड़काने की कार्यवाही मानी जाती है.

भारत-पाकिस्तान के हालात क्यों खराब है ?

पाकिस्तान में सभी आतंकियों का गढ़ है ये बात पूरी दुनिया जानती है और अक्सर इसे हर देश के लोगों को झेलना पड़ता है. पाकिस्तान इस बात से हमेशा इंकार करता है कि आतंकी को वहां की सेना पनाह देती है. सबसे ज्यादा आतंकी हमले भारत में होते हैं और यहां मासूम बेगुनाह लोगों को बेवजह मरना होता है और ये बहुत ही गलत बात है. मगर हद तब हुई जब 14 फरवरी को पाकिस्तानी नागरिक मसूद अजहर के आतंकियों ने 40 भारतीय सीआरपीएफ जवानों पर हमला किया और सभी शहीद हो गए. ऐसे में भारत ने कड़ा एक्शन लिया और एयर सर्जिकल स्ट्राइल उस घटना के 12 दिन बाद कर दी. अब पाकिस्तान बौखलाया हुआ है और वो किसी भी तरह भारत से बदला लेना चाहता है लेकिन भारत पूरी तरह से एलर्ट है.