राहुल गाँधी ने दिये पीएम मोदी के भ्रष्टाचार के ऐसे सबूत, जिन्हें कोर्ट पहले ही कर चुका है ख़ारिज

नोटबंदी पर सरकार और विपक्ष दोनों ही एक दूसरे को घेरने में लगे हैं, संसद का शीतकालीन सत्र ख़त्म होने के बाद से ही राहुल गांधी पीएम मोदी पर हमला करने में जुटे हुये हैं, बुधवार को राहुल गाँधी ने नरेन्द्र मोदी के गढ़ कहे जाने वाले गुजरात के मेहसाणा में एक जनसभा की, जनसभा में राहुल गाँधी पीएम पर खूब गरजे. राहुल गाँधी बोलते बोलते इतना बोल गये कि पीएम मोदी पर कई संगीन आरोप भी लगा दिये. तो दूसरी तरफ बीजेपी ने भी प्रेस कांफ्रेंस करते हुये उनके आरोपों को निराधार बताया और राहुल गाँधी पर हमला किया.

राहुल गाँधी ने पीएम मोदी पर कई संगीन आरोप लगाये :

राहुल गाँधी ने गुजरात के मेहसाणा में जनसभा को संबोधित करते हुये कहा कि नोटबंदी नागरिकों पर बमबारी है और पीएम मोदी का मकसद गरीबों का धन छीनकर अमीरों को और अमीर बनाना है, उन्होंने पीएम मोदी पर कई संगीन आरोप लगाये और ये भी कहा कि पीएम मोदी जब गुजरात के सीएम थे तब उन्होंने सहारा और बिडला से पैसे लिये थे.

दरअसल राहुल गाँधी ने कोई नई बात नहीं की है, राहुल गाँधी ने जिन साक्ष्यों के आधार पर पीएम मोदी पर आरोप लगाये हैं, वो साक्ष्य वकील प्रशांत भूषण ने अपनी एक जनहित याचिका में सुप्रीम कोर्ट में दाखिल किये थे, मगर सुप्रीम कोर्ट ने यह कहते हुये उन साक्ष्यों को सही मानने से इंकार कर दिया था कि कोई भी भ्रष्ट इन्सान अपने खातों में इस तरह से पीएम मोदी के नाम की एंट्री कर सकता है, इससे इन साक्ष्यों की सत्यता पर सवाल उठता है.

सुप्रीम कोर्ट जिन साक्ष्यों को अप्रमाणित मानते हुये ख़ारिज कर चुका है राहुल गाँधी उन्हीं साक्ष्यों के बल पर पीएम मोदी पर आरोप लगा रहे हैं. हालांकि सुप्रीम कोर्ट में अभी इस मामले में सुनवाई चल ही रही है, ऐसे में कोर्ट के फैसले या टिप्पणियों पर सवाल उठाना एक गैर जिम्मेदाराना रवैया दिखाता है.

राहुल गांधी के बयानों का जवाब देने के बीजेपी ने प्रेस कांफ्रेंस की और कहा कि राहुल गाँधी हार की हताशा में ऐसे बयान दे रहे हैं, बीजेपी की तरफ से रविशंकर प्रसाद ने कहा कि पीएम मोदी गंगा के जैसे पवित्र हैं और उनपर इस तरह के आरोप लगाना शर्मनाक है, बीजेपी ने राहुल गाँधी के आरोपों को सिरे से ख़ारिज करते हुये, कांग्रेस के इतिहास पर सवाल उठाये और कहा कि कांग्रेस का इतिहास भ्रष्टाचार से भरा हुआ है. कांग्रेस ने जनता का पैसा लूटा है, और जनता का पैसा लूटने वालों को पनाह दी है.

वैसे तो पीएम मोदी पर ये आरोप नये नहीं है और दिल्ली के सीएम अरविन्द केजरीवाल भी इन्हीं साक्ष्यों के दम पर पीएम मोदी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.