क्या आप भी आँख फड़कना मानते हैं शुभ-अशुभ? जानिए क्या है इसके फड़कने की असली वजह

हम भारतीय सदियों से हर चीज़ के पीछे कुछ ज्योतिष कारणों को जोड़ते आए हैं. ऐसे में यदि किसी की आँख फडकती है तो हम उसे भी शुभ या अशुभ संकेत समझ लेते हैं और सतर्कता बरतना शुरू कर देते हैं. आपने भी इस बात पर गौर किया होगा कि जब भी हमारे किसी मित्र या घर के सदस्य की आँख फडकती है तो वह हमसे यह सवाल जरुर करता है कि “यार! दाई आँख फड़कना शुभ होता है या फिर बाईं?” ऐसे में हम उसकी बात का जवाब नहीं दे पाते. लेकिन क्या आप जानते हैं आँख फड़कने के पीछे ज्योतिष कारण ही नहीं बल्कि कुछ वैज्ञानिक कारण भी हो सकते हैं? दरअसल, हमारी आँख या शरीर के अन्य अंगो का फड़कना हमारी सेहत से जुड़े कईं राज बयान करता है.

बहुत से लोगों को कुछ सेकंड्स के लिए आँख का फड़कना अनुभव होता है तो वहीँ कुछ लोग ऐसे भी हैं जिनकी आँख एक बार फड़कना शुरू कर दे तो उसे ठीक होने में 1 से 2 दिन लग जाते हैं. कईं बार स्तिथि इतनी गंभीर हो जाती है कि हमे डॉक्टर के पास जाना पड़ता है. वहीँ वैज्ञानिक आँख फड़कना को ‘Myokymia’ का नाम देते हैं. आज के इस लेख में हम आपको आँख फड़कने के हमारी सेहत से जुड़े संकेतों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्हें जानना आपके लिए बेहद आवश्यक है.

आँखों में समस्या

अक्सर हम आँख फड़कने को अच्छे या बुरे परिणामों से जोड़ते आए हैं लेकिन आपको यह जानकर हैरानी होगी कि आँख फड़कने का हमारी मांस पेशियों से संबंधित किसी समस्या से गहरा नाता हो सकता है. ऐसे में यदि आपकी आँख बार बार फडकती है तो एक बार किसी अच्छे विशेषज्ञ से अपनी आँखों की जांच आवश्य करवा लें. क्यूंकि हो सकता है आपकी आँखें कमजोर हो गई हो और आपको चश्मे की जरूरत हो.

मानसिक तनाव

तनाव यानि स्ट्रेस आज की युवा पीढ़ी की एक अहम और गंभीर समस्या बन चुकी है. एवे में आँख फड़कने के पीछे का कारण आपका मानसिक या शारीरक तनाव भी हो सकता है. ऐसी अवस्था में कईं बार हम बेचैनी अनुबव कारते हैं और चैन से सो नही पाते और फिर नींद ना पूरी होने के कारण आँख फड़कने लगती है.

थकावट महसूस करना

जिस तरह हम दिन भर काम करने के बाद थक जाते हैं, उससे ना केवल हमारा शरीर बल्कि आंखें भी थक जाती हैं और आराम मांगती हैं. इसके इलावा देर तक कंप्यूटर अ लैपटॉप पर काम करने के कारण भी आँखें थक जाती हैं और फड़कने लागती हैं. इस स्तिथि  में आपकी आँखों को कुछ समय तक बंद करके लेट जाएँ.

ड्राईनेस या सूखापन

अगर आपकी आँखें अधिक ड्राई हैं या फिर आँखों में किसी तरह की एलर्जी या खुजली की समस्या बनी रहती है तो आँखों का फड़कना लाजमी है. ऐसे में आप अपने नजदीकी आँख के डॉक्टर से एक बार आँखों की जांच आवश्य करवा लें ताकि वह आपकी आँखों के सूखेपन को दवाई की मदद से ठीक कर सके. सही इलाज के बाद आँखों के फडकने से निजात पाया जा सकता है.