अध्यात्म

4 दिन बाद है सूर्य ग्रहण, महिलाओं को भूलकर भी नहीं करना चाहिए ये 5 काम, पड़ता है बुरा प्रभाव

साल 2019 के शुरु होते ही हर बात पर चर्चा होने लगी है तो अब ग्रहण पर भी चर्चा होने लगी क्योंकि 4 दिन यानी 6 जनवरी को साल का पहला सूर्य ग्रहण लगने लगा है. हिंदू मान्यताओं के मुताबिक अगर कोई गर्भवती महिला सूर्य ग्रहण देख ले तो उसका असर पूरा उसके बच्चे पर पड़ने लगता है. ऐसा कहा जाता है कि किसी भी ग्रहण का असर 108 दिनों तक बना रहता है और ऐसे में गर्भवती महिला को बचकर रहना ज्यादा सही होता है. इस बार साल का पहला सूर्य ग्रहण 6 जनवरी को लगने वाला है और 4 दिन बाद सूर्य ग्रहण, प्रेगनेंट महिलाओं को भूलकर भी नहीं करना चाहिए ये 5 काम, आपको किन कामों से बचना चाहिए इसके बारे में आपको हम इस आर्टिकल में बताने वाले हैं.

4 दिन बाद सूर्य ग्रहण नहीं करना चाहिए ये 5 काम

सूर्य का प्रकाश जब चंद्रमा की वजह से पृथ्वी पर नहीं पहुंच पाता तो उसे सूर्य ग्रहण करते हैं. साल का पहला सूर्यग्रहण पौष अमावस्या 5 जनवरी की आधी रात से लगने लगेगा और 6 जनवरी की मध्य तक धरती पर दिखाई देगा. इस साल का पहला 6 जनवरी को ही लगेगा, हालांकि ऐसा बताया जा रहा है कि भारत में ये सूर्य ग्रहण दिखाई नहीं देगा बल्कि यूरोप, मध्य एशिया, अफ्रीका, अमेरिका में इसका असल दिखाई देगा. इस दौरान कुछ विशेष बातों का ख्याल रखना चाहिए खासकर प्रेग्नेंट महिलाओं को इन बातों का खास ख्याल रखना चाहिए.

ग्रहण देखने पर ये होगा असर

ऐसा माना जाता है कि गर्भवती महिला अगर सूर्य ग्रहण देख लेती है तो उसका सीधा असर उसके होने वाले बच्चे के शरीर और दिमाग पर पड़ता है. जिसकी वजह से शिशु गंदे लाल चिन्हों के साथ पैदा होता है.

नुकीली चीज का नहीं करें प्रयोग

ग्रहण के दौरान अगर कोई महिला नुकीली या धारदार चीज का इस्तेमाल करती है या फिर सब्जी या फल काटती है तो धार्मिक मान्यता के अनुसार शिशु का कोई अंग कमी के साथ पैदा होगा.

कैंची का इस्तेमाल वर्जित

ग्रहण के दौरान अगर कोई महिला कैंची का इस्तेमाल करती है तो ऐसा माना जाता है कि उसके होने वाले बच्चे के शिशु के होंठ कटे हुए होते हैं. पैदा होने पर वो बच्चा अजीब सा ही नजर आता है.

सुई का भी ना करें उपयोग

ग्रहण लगने के दौरान सुई का इस्तेमाल करना भी गर्भवती महिलाओं के बच्चे के लिए हानि का कारण बनता है. उस बच्चे के दिल में छेद होता है और इसके अलावा अगर कोई गर्भवती महिला पानी पीती है तो शिशु की त्वचा रूखी होती है.

ग्रहण के दौरान नहाना है वर्जित

ऐसी मान्यता है कि ग्रहण के दौरान गर्भवती महिला को नहीं नहाना चाहिए और ग्रहण खत्म होने के बाद जरूर नहाना चाहिए. ग्रहण के नकारात्मक प्रभाव से बचने के लिए गर्भवती महिला को तुलसी का पत्ता जीभ पर रखकर हनुमान चालिसा और दुर्हा स्तुति का पाठ करना चाहिए

Related Articles

Close