ब्रेकिंग न्यूज़

जानिये ,जोमैटो के उस उन कर्मचारी का क्या हुआ जो लोगों को झूठा पार्सल डिलीवर करता था

न्यूज़ट्रेंड एंटरटेनमेंट डेस्क: खाने के शौकीन लोगों के लिए रात भर खाना आर्डर करने वाली ऐप किसी वरदान से कम नहीं है, कभी भी किसी भी वक्त भूख लगी हो आपका जो भी खाने का मन हो बस मोबाइल उठाओ और आर्डर कर लो, यहां तक की जो लोग खाना नहीं बना पाते उनके लिए भी ये ऑनलाइन खाना मंगाना और मनमर्जी का खाने को मिलना वाकई एक वरदान है। जैसे-जेसे दिन बा दिन इंटरनेट की सुविधाएं बढ़ी हैं और इंडिया डिजिटल हो गया है वैसे-वैसे इस तरह की कई ऐप्स मार्केट में आ गई हैं जो आपको हर समय स्वादिष्ट खाना आपके मनपसंद रेस्टोरेंट से लाकर आपके घर तक पहुंचा देती हैं।

लेकिन अब हम आपको कुछ ऐसा बताएंगे जिसके बाद आप भी बाहर से खाना आर्डर करने से पहले एक बार नहीं बल्की हजार बार सोचेंगे। सोशल मीडिया में एक वीडियो इन दिनों जमकर वायरल हो रहा है, जिसमें जोमैटी का एक बंदा मस्त स्कूटर पर बैठकर खाना खा रहा है, अब आप सोचेंगे कि खाना खाने में क्या बड़ी बात है, इंसान है भूख लगी है तो खाना खाएगा ही, लेकिन ये बंदा जो खाना खा रहा है वो उसका खुद का नहीं हैं, बल्की आपकी और हमारी ही तरह किसी ने ये खाना खुद के लिए जोमैटो के जरिए आर्डर करा था, और स्कूटर पर बैठे ये महाशय इस खाने को खा रहे हैं। और खाने के बाद उसको वापस से उसी तरह से पैक करके रख देते हैं और डिलीवरी करने के लिए निकल जाते हैं। देखें वीडियो-

 

बता दें कि ये वीडियो जैसे ही सोशल मीडिया पर आया तेजी से वायरल हो गया, ये देखते ही जोमैटी कंपनी ने जांच बिठाई जिसमें सामने आया की ये वीडियो मदुरई का है, उसके बाद इन महाशय को नौकरी से निकाल दिया गया। जोमैटी जैसी कंपनी पर फूड टैंपरिंग का टैग लगना वाकई उसके लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है लेकिन कंपनी ने इस मामले पर दूसरे ही दिन एक ब्लाग लिखा जिसमें उन्होंने बताया कि उस लड़के को बाहर निकाल दिया गया है और आगे से कंपनी कुछ ऐसा प्लान करेगी की इस तरह की कोई भी घटना ना हो पाए। पढ़ें जोमैटो द्वारा लिखा गया ब्लॉग-

“Last night, we came across a video of a delivery executive in a Zomato t-shirt, carrying a Zomato delivery bag, eating food out of boxed orders and replacing each one after resealing them, back into the delivery bag. The video suggests that he consumed some of the food meant for delivery to users, on his way to the drop points.

We want our users, restaurant partners and all stakeholders to know that-

1. We take these kinds of reports extremely seriously and upon thorough investigation, we’ve found that the video was shot in Madurai. The person in the video happened to be a delivery partner on our fleet. We have spoken to him at length – and while we understand that this was a human error in judgement, we have taken him off our platform.

2. We would like to iterate that given our multiple communication channels with users, who expect the highest standards from Zomato and highlight the smallest of deviations to us as soon as they receive their orders, this is highly unusual and a rare case.

3. Unfortunately, this also highlights a real possibility for tampering with the food on the way to delivery from a restaurant. We take this very seriously and will soon introduce tamper-proof tapes, and other precautionary measures to ensure we add an extra layer of safeguard against such behaviour. Additionally, we will educate our delivery fleet of over 1.5 lakh partners to highlight or escalate any such deviations to us, while also encouraging our users — the custodians of our platform — to highlight the smallest of anomalies to us.

4. And finally, our delivery partners are the face of our brand, and the heart of our success in growing to become the largest food delivery platform in the country. Our food delivery business has grown immensely over the last year on the back of our large delivery partner fleet that work very hard to ensure that Zomato translates to a high quality food experience. We thank them and the strong support and trust from our restaurant partners, consumers and investors.

Zomato maintains a zero tolerance policy for tampering of food. This particular incident, while unfortunate, only makes our commitment to fleet training, scheduling and process even stronger. We stand behind our extensive fleet who do the right thing across many hours of the day.”

Show More
Back to top button