मुख्य समाचार

जानिए पाकिस्तान ने ऐसा क्या कहा कि चीन ने उसकी जमकर बेइज्जती कर दी!

आपको ऐसा लगता होगा कि चीन और पाकिस्तान दोनों बहुत अच्छे दोस्त हैं और चीन किसी भी कीमत पर पाकिस्तान का साथ देगा। लेकिन आप गलत हैं, क्योंकि इस मामले को देखने के बाद तो कम से कम ऐसा ही लगता है। चीन पाकिस्तान को निचा दिखाने का कोई भी मौका अपने हाथ से नहीं जाने दे रहा है। ऐसा क्या हुआ कि जो पहले दोस्ती की बात करते थे आज बेइज्जती कर रहे हैं।

पाकिस्तान भी चलाना चाहता है बुलेट ट्रेन:

दरअसल पाकिस्तान भी भारत की तरह अपने देश में बुलेट ट्रेन लाना चाहता है, इसके लिए उसने चीन से बात की। इसपर चीन का ऐसा जवाब होगा, पाकिस्तान ने कभी सपने में भी यह नहीं सोचा था। जब पाकिस्तान ने चीन से बुलेट ट्रेन की बात की तो चीन ने उसकी जमकर बेइज्जती करते हुए कहा कि पाकिस्तान में बुलेट ट्रेन नहीं चल सकती है। चीन ने पाकिस्तान की इस बात को हँसते हुए इनकार कर दिया। आपको बता दें यह जानकारी किसी और ने नहीं बल्कि पाकिस्तान के रेल मंत्री रफीक ने ही नेशनल असेम्बली को बताई थी।

पाकिस्तान में बुलेट ट्रेन लाना संभव नहीं:

रफीक ने नेशनल असेम्बली के सामने यह बात कही थी कि उसके देश पाकिस्तान के पास इतना पैसा नहीं है कि वह खुद से बुलेट ट्रेन चला सकें। इसके लिए उन्हें अपने मित्र देश चीन से बात करने की जरुरत थी। उन्होंने कहा कि, “जब हमने चीन से बुलेट ट्रेन के बारे में बात की तो चीन हमारे ऊपर हँसने लगा और इतना ही नहीं चीन ने हमें यह भी सलाह दी कि हम बुलेट ट्रेन का सपना देखना बंद कर दें। उन्होंने आगे बताया कि चीन ने कहा कि पाकिस्तान में बुलेट ट्रेन शब्द तो बोलने के लिए सही है, लेकिन सच में पाकिस्तान में बुलेट ट्रेन लाना संभव नहीं है”।

पाकिस्तान में बुलेट ट्रेन जैसी ट्रेन लाने में लगेगा 15 साल:

रफीक ने असेम्बली को आगे बताया कि, “चीन ने यह कहा है कि बुलेट ट्रेन तो नहीं लेकिन पाकिस्तान में बुलेट ट्रेन की ही तरह दिखने वाली एक और ट्रेन CPEC प्रोजेक्ट के तहत लायी जा सकती है। इस ट्रेन की रफ़्तार पाकिस्तान-चीन के बीच 160 किलोमीटर प्रति घंटे होगी। इसको बनाने में अभी 15 साल का समय लगेगा और इसके लिए 46 बिलियन डॉलर की जरुरत होगी।

भारत में 2018 में शुरू हो जायेगा बुलेट ट्रेन का कार्य:

आपको बता दें भारत, जापान की मदद से बुलेट ट्रेन की परियोजना शुरू कर रहा है। 2018 में मुंबई-अहमदाबाद के बीच बुलेट ट्रेन मार्ग के निर्माण का कार्य शुरू किया जायेगा। इसी को देखकर पाकिस्तान ने भी सोचा कि वह अपने देश में बुलेट ट्रेन ला सकता है, लेकिन अपने मित्र चीन की बात सुनकर उसके होश ही उड़ गए। उसे ज़रा भी यकीन नहीं था कि उसका करीबी दोस्त उसके बारे में ऐसी बातें करेगा।

Related Articles

Close