विशेष

फ्लैट खरीदने के समय वास्तु की इन 8 बातों को अच्छे से रखें ध्यान, नहीं तो पछताना पड़ेगा

आजकल घर खरीदना आसान बात नहीं है और इन मामलों में व्यक्ति रिस्क नहीं लेना चाहता. खासकर वो लोग जो एक-एक पैसा बचाकर घर खरीदते हैं उनके लिए एक घर बहुत ज्यादा मायने रखता है. उस दौरान वो ब्रोकर या फ्लैट का ऑनर हर किसी के बारे में अच्छे से जान लेते हैं वरना बाद में समस्या आई तो वे कुछ नहीं कर सकते. मगर आपको इन सभी चीजों के साथ फ्लैट खरीदते समय कुछ वास्तु की बातों पर भी गौर करना चाहिए, क्योंकि वास्तु के अनुसार घर लेने पर आपको किसी भी प्रकार का दोष नहीं लगता और आपका परिवार अच्छा जीवन जीता है. फ्लैट खरीदने के समय वास्तु की इन 8 बातों को अच्छे से रखें ध्यान, घर इंसान के लिए बहुत ज्यादा महत्वपूर्ण होता है खासकर अपना घर तो इसे खरीदने से पहले जरूरी बातों का ध्यान जरूर रखें.

फ्लैट खरीदने के समय वास्तु की इन 8 बातों को अच्छे से रखें ध्यान

आप जब भी अपने और अपने परिवार के लिए फ्लैट लेने जाते हैं तो आपको उस समय वास्तु के कुछ महत्वपूर्ण रूप फॉलो करने चाहिए. दरअसल फ्लैट का निर्माण करते समय बिल्डर हर हिस्से का ज्यादा से ज्यादा उपयोग करना चाहता है इसलिए वे वास्तु के बनाए नियमों का पालन नहीं कर पाते. ऐसे में फ्लैट खरीदते समय कुछ वास्तु नियमों का पलन आपके जीवन को खुशी और समृद्धि से भर सकता है.

1. जिस जमीन पर अपार्टमेंट बना होता है और जिसमें आपका वो फ्लैट होता है जिसे आपको खरीदना है तो इसके साथ ही उत्तर और पूर्व दिशा में ज्यादा खुली जगह भी होनी चाहिए.

2. फ्लैट खरीदते समय ये भी ध्यान में रखना चाहिए कि वहां पर बड़ा अस्पताल, शमशान, कब्रिस्तान या कसाई खाना तो नहीं है. क्योंकि ऐसी जगहों से नकारात्मक ऊर्जा जल्दी आती है और आपका जीवन प्रभावित कर सकती है.

3. किसी भी मल्टीस्टोरी बिल्डिंग में फ्लैट लेना चाहिए, जिसके उत्तर या पूर्व दिशा में भूमिगत पानी की टंकी या नलकूल हो. दूसरी किसी भी दिशा में जल स्रोत का होना शुभ नहीं माना जाता है.

4. बहुमंजिला इमारत की चारों दीवारें उत्तर की तुलना में दक्षिण में और पूर्ण की तुलना में पश्चिम में ज्यादा ऊंची होनी चाहिए.

5. बहुमंजिला इमारत का मेन गेट और फ्लैट का मेन डोर आमने-सामने नहीं हो ऐसा ध्यान जरूर रखें. क्योंकि ऐसा होना शुभ नहीं माना जाता है.

6. बहुमंजिली इमारत में ऊपर जाने की सीढ़ियां ईशान कोण में नहीं होनी चाहिए बल्कि दक्षिण या पश्चिम दिसा में होनी चाहिए. ऐसा फ्लैट जो सीढ़ियों के एकदम सामने पड़े उसे खरीदने से बचें.

7. फ्लैट की बालकनी उत्तर, ईशान या पूर्व दिशा में होनी चाहिए जिससे सूर्य से मिलने वाली ऊर्जा और प्रकाश आपको मिलती रहे.

8. किसी भी बहुमंजिला इमारत में ग्राउंड फ्लोर पर रहने वालों पर वास्तु का पूरा प्रभाव आता है. इन दोषों का प्रभाव ऊपरी मंजिल में रहने वालों के साथ-साथ जैसे-जैसे नीचे आता है वो बढ़ता जाता है.

Related Articles

Close