अयोध्या : वीएचपी की धर्मसभा में शामिल होंगे उद्धव ठाकरे, किले में तब्दील हुई राम नगरी

राम नगरी यानि अयोध्या में साधु संतो समेत नेताओं का जमावड़ा शुरू हो चुका है। जी हां, अयोध्या में राम भक्त राम मंदिर बनाने की मांग को लेकर आए हैं। यहां रविवार को दोपहर में धर्म सभा की जाएगी, जिसमें कई बड़े दिग्गज नेता समेत साधु संत शामिल होंगे। हालांकि, अयोध्या में साधु संतो और कार्यकर्ताओं की भीड़ कई दिनों जुट रही है, लेकिन रविवार को बड़ी संख्यां में राम भक्तों के पहुंचने की उम्मीद जताई जा रही है। वक्त की नजाकत को समझते हुए राम नगरी को किले में तब्दील कर दिया है। तो चलिए जानते हैं कि हमारे इस लेख में आपके लिए क्या खास है?

रविवार को आयोजित धर्मसभा करीब चार घंटे चलेगी। जी हां, दोपहर 12:30 बजे से 4.30 बजे तक यह सभा बड़ा भक्तमाल की बगिया में होगी, जिसमें बीजेपी और वीएचपी के कार्यकर्ताओं के अलावा साधु संत शामिल होंगे। सूत्रों की माने तो आज के इस सभा में करीब 3 लाख लोग शामिल होंगे, जिसकी वजह से सुरक्षा के पुख्ते इंतजाम किये गये हैं। राम भक्तों का कहना है कि उन्हें किसी से कुछ भी नहीं लेना है, लेकिन वे यहां से इस बार राम मंदिर बनवाकर ही जाएंगे, फिर चाहे जो कुछ भी हो जाए।।

किले में तब्दील अयोध्या, उद्धव ठाकरे होंगे शामिल

यूं तो अयोध्या में उद्धव ठाकरे बीते दो दिनों से हैं, लेकिन रविवार को होने वाली धर्म सभा में शामिल होंगे, जिसकी  वजह से अयोध्या में सुरक्षा के पुख्ते इंतजाम किये गये हैं। उद्धव ठाकरे का कहना है कि रामलला हम आएंगे और इस बार आपको टैंट से बाहर निकाल कर ही जाएंगे। इसके अलावा शिवसेना ने नारा दिया कि पहले मंदिर फिर सरकार यानि साफ है आगामी लोकसभा चुनाव से पहले राम मंदिर को लेकर जमकर तैयारियां की जा रही है। बता दें कि वीएचपी का कहना है कि राम मंदिर पर यह हमारी आखिरी सभा है, इसके बाद और सभाएं या प्रदर्शन नहीं होंगे, सीधे राम मंदिर का निर्माण होगा।

बताते चलें कि सरक्षा के लिए आसमान से भी निगरानी की जा रही है और इसके अलावा  एक अपर पुलिस महानिदेशक, एक पुलिस उप-महानिरीक्षक, तीन वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, 10 अपर पुलिस अधीक्षक, 21 पुलिस उपाधीक्षक, 160 इंस्पेक्टर, 700 कांस्टेबल, 42 कंपनी पीएसी, पांच कंपनी आरएएफ और एटीएस कमांडो तैनात किए गए हैं। पुलिस प्रशासन का कहना है कि किसी भी अनहोनी को रोकने के लिए हमने ये सारी तैयारियां की है।