J&K: नगरोटा में सेना के कैंप पर हमला – 2 मेजर समेत 7 जवान शहीद, तीनों आतंकी ढेर, सर्च ऑपरेशन जारी

जम्मू/नई दिल्ली – उड़ी के बाद जम्मू के नगरोटा में मंगलवार को आतंकियों ने 16 कोर मुख्यालय के निकट सैन्य शिविर पर सबसे बड़ा आतंकी हमला किया। आंतकियों ने कल डबल अटैक किया। जिसमें एक हमला जम्मू के नगरोटा में सेना पर तो दूसरा सांबा में बीएसएफ पर किया। आतंकी हमले से सबसे ज्यादा नुकसान नगरोटा में हुआ जहां सात जवान शहीद हो गए। जवाबी कार्रवाई में नगरोटा में सेना व रामगढ़ में बीएसएफ ने जवाबी कार्रवाई कर छह आतंकियों को मार गिराया। दोनों जगह तीन-तीन आतंकी मारे गए। रामगढ़ में मुठभेड़ समाप्त हो गई है, जबकि नगरोटा में सर्च ऑपरेशन जारी है। Militant attack on nagrota army camp.

Militant attack on nagrota army camp

ऐसे हुआ आतंकी हमला –

सेना ने अपने बयान में कहा कि मंगलवार की सुबह भारी हथियारों से लैस आतंकवादियों के एक समूह ने पुलिस की यूनिफॉर्म में नरगोटा कॉर्प्स हेडक्वॉर्टर से तीन किलोमीटर की दूर आर्मी यूनिट पर हमला किया। आतंकी फायरिंग करते हुए और ग्रेनेड फेंकते हुए ऑफिसर्स मेस कॉम्प्लेक्स में दाखिल हो गए। शुरुआती जबावी कार्रवाई में एक अफसर और तीन जवान शहीद हो गए। इसके बाद आतंकवादी पास कि दो इमारतों में दाखिल हो गए, जहां आर्मी ऑफिसर अपने परिवार के साथ मौजूद थे। ऐसे में बंधक संकट जैसी स्थिति पैदा हो गई। इनमें 12 सैनिक, दो महिलाएं और दो बच्चे शामिल थे। त्वरित कार्रवाई करते हुए सभी को वहां से सुरक्षित निकाल लिया गया।

हालांकि, इस रेस्क्यू के दौरान एक अफसर और दो जवान शहीद हो गए। तीन आतंकवादियों के शव बरामद किए गए हैं और पूरे इलाके की तलाशी के लिए ऑपरेशन चलाया जा रहा है।

निशाने पर था सेना का आयुध भंडार –

आतंकियों के पास से 18 मैगजीन, 25 ग्रेनेड, तीन आइइडी बेल्ट, पांच चेन आइइडी और एक वायरलेस सेट मिला है। ऐसा माने जा रहा है कि आतंकियों का निशाना आयुध भंडार पर था।

आतंकियों को इरादा क्षेत्र में भीषण तबाही मचाने का था। हमले को देखते हुए पूरे जम्मू सिटी में अलर्ट घोषित कर दिया गया है। सभी स्कूलों को बंद कर दिया गया है। नगरोटा में हमले में महाराष्ट्र पंढरपुर निवासी मेजर कुणाल गोसावी, नांदेड़ निवासी लांसनायक संभाजी यशवंत और कांस्टेबल राघवेंद्र कदम शहीद हो गये।

Leave a Reply

Your email address will not be published.