ब्लैकमनी: पीएम मोदी जी ने पूरा किया अपना वादा, इस योजना के तहत देंगे दो-दो लाख रुपए…

नई दिल्ली – 8 नवम्बर को देर शाम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 500 और 1000 के नोटों के बंद करने की घोषणा ने भ्रष्टाचार के खिलाफ भारत की लड़ाई को नई ऊंचाइयां दी। हालांकि बनावटी कहानियों, प्रचार और विपक्ष के झुठे आरोपों द्वारा इस निर्णय को गलत शाबित करने का प्रयास किया जा रहा है! लेकिन, प्रधानमंत्री मोदी के इस निर्णय की उद्योग प्रमुखों, व्यापार वर्ग, किसानों, छात्रों, बुद्धिजीवियों, राष्ट्रवादी मीडिया, सोशल मीडिया और राष्ट्रीय संगठनों ने काफी सराहा है और इसे एक बोल्ड निर्णय करार दिया है। जिसका सकारात्मक असर भी अब दिखने लगा है। Modi Government Housing Scheme.

 

आवास योजना के तहत मिलेगा दो-दो लाख रुपए –

दरअसल, नोटबंदी का ऐलान होने के बाद आज मोदी सरकार लोगों के लिए एक खुशखबरी लाई है। आवास योजना के तहत मोदी सरकार करोड़ों लोगों को दो-दो लाख रुपए का तोहफा देने जा रही है। मोदी सरकार ने ‘सबको आवास’ योजना के तहत एक करोड़ मकान बनाने की योजना बनाई है।

प्रधानमंत्री मोदी ने आगरा में ‘परिवर्तन रैली’ को संबोधित करते हुए कहा कि गरीब के पास अपना घर होना चाहिए ये संकल्प लेकर कार्य कर रहा हूं। लोगों की जरुरत के हिसाब से मॉडल तैयार किए हैं। मोदी ने नोटबंदी पर कहा कि कुछ लुटेरों के कारण गरीबों को उनका हक नहीं मिल पा रहा है इसलिए नोटबंदी का फैसला लिया गया है।

पीएम मोदी ने कहा डिब्बा जैसा नहीं होगा घर बल्कि सुविधाजनक होगा, करोड़ो करोड़ घर बनाने हैं इसे बनाने में लोगों को रोजगार भी मिलेगा। इस योजना के अंतर्गत मैदानी क्षेत्र में 1.20 लाख रुपए और पर्वतीय क्षेत्रों में 1.30 लाख रुपए की सहायता प्रदान की जाएगी।

 

देश सोने की तरह तपकर बाहर निकेलगा : पीएम –

रैली को संबोधित करते हुए कहा पीएम मोदी ने कहा,  मैंने कालाधन और भ्रष्ट्राचार पर लगाम लगाने के लिए जो कदम उठाया है। उसे आम लोगों का समर्थन मिल रहा है। मैंने पहले ही दिन कहा था कि यह बड़ा काम है और इससे थोड़ी बहुत असुविधा होगी। लेकिन आपका कष्ट बेकार नहीं जायेगा, देश सोने की तरह तपकर बाहर निकेलगा।  कई लोग हैं जो अपने बकाये बिल चुकता कर रहे हैं ये कौन लोग हैं?  8 नवम्बर को नोटबंदी के बाद से 5 लाख करोड़ से ज्यादा रकम बैंक में आकर जमा कराये गये हैं। इतने सारे पैसों का बैंक क्या करेगा। बैंक इन पैसों को कम ब्याज पर आम लोगों को व्यापार के लिए लोन देगा।