अरेंज मैरिज में ना दिखाएं हड़बड़ी, पहले कर लें ये काम तब करें हां

न्यूज़ट्रेन्ड वेब डेस्क: आज के रिलेशनशिप वाले जमाने में भी बहुत से ऐसे लोग हैं जो अरैंज मैरिज करते हैं या करने में यकीन रखते हैं। अरैंज मैरिज का मतलह है कि आपके घर वाले अपनी पसंद के लड़के या लड़की का रिश्ता आपके सामने रखते हैं। अरेंज मैरिज का मतलब ये बिल्कुल नहीं है कि जो आपके सामने रिश्ते आएं उन्हें भारी या दूखी मन स या पैरेंट्स के प्रेशर में हां कर दें। शादी का फैसला आपका ही होना चाहिए। ये आपकी जिंदगी की सवाल है। आप अरेंज मैरिज में अपने माता पिता का ध्यान रखते हुए भी हिसाब से रिश्ते का चुनाव कर सकते हैं।

आपको बताते हैं वो बातें जो आपको अरेंज मैरिज करने से पहले सोच लेनी चाहिए।

खुद से सवाल-

सबसे पहले ये जान लें कि चाहे वो लव हो या अरेंज शादी के लिए हां तभी कहें जब आप शादी करना चाह रहे हों। कई बार लोग मां बाप के दबाव में या समाज के दबाव में शादी के लिए हां कर देते हैं और फिर उन्हें अपने पार्टनर के साथ तालमेल बैठाने में बहुत दिक्कत होती है। शादी के लिए सामने वाला तैयार है या नहीं से ज्यादा जरुरी है ये सवाल खुद से पूछना। क्या आप शादी के लिए तैयार है? शादी बहुत बड़ी जिम्मेदारी होती है। आप ऐसे ही किसी के साथ शादी के लिए हां नहीं कर सकते।

वक्त लें-

शादी के लिए अगर हां कह भी रहे हों तो शादी करने से पहले कुछ वक्त ले लें। ये वक्त लें खुद को समझने का और दूसरो को समझने का। सामने वाले से बात करें। उसे समझने की कोशिश करें साथ ही सामने वाले को खुद के भी समझन का मौका दे। थोड़ा बहुत एक दूसरे को जानने के बाद आपको ये समझने में मदद मिलेगी की आप एक दूसरे के लिए ठीक हैं या नहीं।

ध्यान दें-

हर बात पर गौर करना भी जरुरी है। ये जान लें कि आप एक दूसरे के साथ सहज महसूस कर रहे हैं या नहीं। आप एक दूसरे के साथ रहते हैं तो आपको अच्छा लगता है या नहीं। क्या आपको लगता है कि आपकी लाइफस्टाइल के साथ वो खुद को ढाल सकते हैं या आप उनकी लाइफस्टाइल में खुद को ढाल सकते हैं। इन बातों को जानना है जरुरी।

परिवार का महत्व-

शादी के लिए हमेशा से कहा गया है कि ये सिर्फ दो लोगों के बीच का रिश्ता नहीं है बलकि दो परिवार के बीच का रिश्ता है। केवल ये ना सोचें कि आपको अपने पार्टनर से मतलब होगा। आपसे पहले वो अपने परिवार से जुड़े हैं तो अगर आप उन्हें हां कह रहे हैं तो उनके साथ साथ उनके परिवार वालों को भी स्वीकार करें। साथ ही उन्हें भी इस बात का एहसास दिलाए की आपके लिए अपना परिवार भी बहुत महत्व रखता है। एक दूसरे के परिवार के साथ भी वक्त बिताएं। आपके पार्टनर के बारे में आपके परिवार वालों को ज्यादा जानकारी होगी।

पास्ट को करें पीछे-

अपने होने वाले पार्टनर से कभी कोई ऐसी बात ना छिपाए जिससे आपका भविष्य खतरे में पड़ जाए। अगर आपको बातचीत से लगता है कि आपका पार्टनर आपकी एक्स की बात करने पर ओवर रिएक्ट नहीं करेगा तो अपना पास्ट बताएं। अगर आप दोनों ही पुरानी बातों को नहीं याद करना चाहते हैं तो भी ठीक है।