भारत में तेज़ी से फैल रही है ये दुर्लभ बीमारी, ज़्यादातर बच्चे हो रहे हैं इसके शिकार

न्यूजट्रेंड हैल्थ डेस्क :  बदलते मौसम के साथ आजकल बहुत अजीब-अजीब तरह की बीमारियाँ भी अपने पैर पसार रही हैं जिसके बारे में शायद ही आम लोगों को जानकारी हैं। लोगों में वायरल आदि की बीमारी इन दिनों काफी ज्यादा देखने को मिल रही है मगर इस सब के बीच कुछ ऐसी भी बीमारियाँ पनप रहीं हैं जो बच्चों का का बचपन तक बर्बाद कर दे रही हैं। असल में हम बात कर रहे हैं इक्थियोसिस नामक एक दुर्लभ बीमारी की और जैसा की बताया जा रहा है यह बीमारी बच्चों पर ज़्यादातर हमला करती है .

इसकी वजह से बच्चो की स्किन मोम के जैसे हो जाती हैं। हालांकि इक्थियोसिस (ichthyosis)  बीमारी के केस भारत में काफी कम देखने को मिले हैं और खास कर इस बीमारी के बारे में भी बहुत कम ही लोग जानते हैं, ऐसे में लोगों को इस बीमारी के बारे में जागरूक करने के लिए क्रिकेटर और बॉलीवुड स्टार कैंपनिंग कर रहे है।

क्या है इक्थियोसिस ( ichthyosis ) बीमारी

इक्थियोसिस बीमारी होने पर बच्चो के स्किन मोम के जैसे मुलायम हो जाते हैं और बच्चे के बड़े होने पर यह और भी बढ़ जाती हैं। फिलहाल अभी तक इक्थियोसिस के उपचार के बारे में कोई खोज नहीं की जा सकी हैं बस इस बीमारी के होने पर बच्चो के स्किन पर मरहम और लोशन लगाया जाता हैं। इस बीमारी में बच्चो के सांस लेने में परेशानी होती हैं, इसके अलावा धीरे-धीरे बच्चो के स्किन उनके बॉडी से उतरती रहती हैं और इसकी वजह से उन्हें बहुत दर्द होता हैं।

इक्थियोसिस बीमारी के लक्षण

इस बीमारी होने के आम लक्षण है सुखी काली स्किन, लालिमा, फफोले या बहुत ज्यादा शेडिंग होती हैं। इसके अलावा बच्चो के स्किन पर हल्की भूरे रंग की पपड़ी बन जाती हैं। इस बीमारी में बच्चो की खास देखभाल करने की जरूरत होती हैं क्योंकि इसमें इन्फेक्शन का खतरा बढ़ जाता हैं, इसके साथ बच्चो के उम्र बढ़ने के साथ उनकी स्किन धीरे-धीरे उतरने लगती हैं और इसकी वजह से बच्चो को बहुत तकलीफ सहनी पड़ती हैं।

इस बीमारी के बारे में लोगो को जागरूक करने के लिए अभियान चलाये जा रहे हैं, इस अभियान से क्रिकेटर गौतम गंभीर, बॉलीवुड स्टार वरुण धवन और अभिनेत्री सोहा अली खान, श्रीया शरन और ट्रांसजेंडर एक्टिविस्ट गौरी सावंत जैसी मशहूर हस्तियाँ कैंपनिंग कर रहे हैं। इस बीमारी के प्रति लोगों में जागरूक करने के लिए तरह तरह की शॉर्ट फिल्में दिखाई जा रही हैं और आपको बता दें की यह कैम्पेन विक्ड ब्रांड के विक्स टच ऑफ केयर की ओर शुरू की गयी हैं। इस शॉर्ट फिल्म में इस बीमारी से पीड़ित लड़की के बारे में दिखाया गया हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें की यह अभियान अनाथ बच्चो को गोद लेने के संदर्भ में चलाया जा रहा हैं, इन अनाथ बच्चो में कुछ बच्चे इस बीमारी से ग्रसित हैं, जिन्हें देखभाल की सख्त जरूरत हैं। ट्रांसजेंडर एक्टिविस्ट गौरी सावंत ने बताया कि इस अभियान की मदद से ऐसे लोगों को दुनिया के सामने पेश किया जा रहा और उनकी मदद भी कर रहा हैं। उन्होने कहा कि यह दुनिया के लिए एक आशा की एक किरण की तरह हैं जो इस तरह की बीमारी का प्रतिनिधित्व कर रहा हैं, इसके अलावा गौतम गंभीर ने कहा कि यह अभियान दुनियाँ की लाखो लोगों के दिल को छू लिया है।