स्वास्थ्य

सावधान: अगर पीरियड्स में हो रही है देरी, तो ये गंभीर समस्याएं हो सकती है इसकी वजह

न्यूज़ट्रेन्ड हेल्थ डेस्क: महिलाओं में आने वाला मासिक धर्म यह कोई समस्या नहीं है बल्कि यह प्रकृति का दिया गया उपहार होता है परंतु जब महिलाओं में मासिक धर्म अनियमित हो जाए तो यह बहुत बड़ी समस्या बन सकती है इसके पीछे का कारण पता नहीं होता कि आखिर मासिक धर्म देरी से क्यों आ रहा है? बहुत सी महिलाओं और लड़कियों को इस तरह की समस्या का सामना करना पड़ता है और उनके मन में यही सवाल रहता है कि आखिर उनका मासिक धर्म देर से क्यों आ रहा है? महिलाओं और लड़कियों में हर महीने होने वाला मासिक धर्म जिसको आम भाषा में महामारी या पीरियड्स भी कहा जाता है, यह जरूरी नहीं है कि हर महीने एक ही तारीख पर आए अगर मासिक धर्म अनियमित हो जाए तो इससे महिलाओं को गर्भधारण करने में समस्या का सामना करना पड़ सकता है यदि आपके पीरियड्स में भी देरी हो रही है तो इसके पीछे कई गंभीर समस्याएं हो सकती हैं।

आज हम आपको इस लेख के माध्यम से किन समस्याओं की वजह से आपके पीरियड्स में देरी होती है इसके बारे में जानकारी देने वाले हैं।

आइए जानते हैं पीरियड्स में देरी होने की वजह

मोटापा

अगर महिलाएं मोटापे का शिकार होती है तो इसकी वजह से ओवररीज बंद हो जाती है जिसके कारण महिलाओं को पीरियड समय पर नहीं आते हैं इस स्थिति में उन महिलाओं को जलन और पेट में दर्द जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है अगर आपके साथ भी इसी तरह की कोई समस्या है तो आप अपना वजन कम कीजिए आप इस समस्या से बच सकती हैं।

थायराइड की समस्या

विशेषज्ञों का ऐसा मानना है कि जिन महिलाओं को थायराइड की समस्या रहती है उनके पीरियड देर से आते हैं इसके साथ ही उन महिलाओं को पीरियड के दौरान असहनीय दर्द जैसी समस्या का सामना भी करना पड़ता है जब महिलाओं को थायराइड की समस्या होती है तो उनके शरीर के हार्मोन संतुलित नहीं रहते यदि आप इस समस्या से बचना चाहती है तो थायराइड का टेस्ट अवश्य कराते रहिए।

नींद की कमी होना

व्यक्ति को पर्याप्त नींद लेना अति आवश्यक है अगर नींद पूरी ना हो पाए तो इससे कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है जिन महिलाओं को नींद कम आती है ऐसी स्थिति में उन महिलाओं के एंड्रोजन का निर्माण ठीक प्रकार से नहीं हो पाता है जिसके कारण महिलाओं को पीरियड देर से आने की समस्या का सामना करना पड़ता है इसके साथ ही समय पर गर्भधारण भी नहीं कर पाती है इसलिए महिलाओं को कम से कम 8 घंटे की नींद लेना अति आवश्यक है।

तनाव लेना

आजकल के समय में लोग काफी व्यस्त हो गए हैं खराब जीवनशैली की वजह से इनके स्वास्थ्य पर काफी गहरा प्रभाव पड़ रहा है अपनी बिजी लाइफ में यह अपनी सेहत की तरफ बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे पाते हैं अनियमित जीवनशैली की वजह से व्यक्ति को तनाव का भी सामना करना पड़ता है जिन महिलाओं को तनाव अधिक है उनका मासिक धर्म समय पर नहीं आ पाता है जिसकी वजह से उनके शरीर में बहुत से गलत प्रभाव भी पड़ने लगते हैं महिलाओं को असहनीय दर्द और उल्टियां होने जैसी समस्या हो जाती है अगर आप चाहती हैं कि इन समस्याओं से बच सके तो आप तनाव लेने से बचें।

Related Articles

Close