चिक़न वाले ने अपनी दुकान का रख दिया ऐसा नाम की मच गया बवाल, जानें आखिर क्या था वो नाम

हम सब जानते इस बात से बेहतर वाकिफ हैं कि हमारे भारत देश में के सारी भिन्न भिन्न जातियां और कई तरह के धर्म वाले लोग रहते हैं। ये विभिन्न संप्रदाय वाला देश है लेकिन ये बात भी सच है कि आये दिन यहां कई सारे दंगे होते रहते हैं। कभी किसी बहस को लेकर को कभी किसी मामूली सी बात को लेकर। आज जो मामला सामने आया है वो कुछ ऐसा ही है, असल में आपको यह जानकर बेहद ही हैरानी होगी कि इस देश में जहां एक तरफ समानता की बात होती है वहां दूसरी तरह सिर्फ एक नाम को लेकर इतना हंगामा भी हो सकता है, यह कोई सोच भी नहीं सकता। लेकिन आज ऐसा ही हुआ और जो भी कोई इस मामले को सुनेगा हर कोई हैरान हो जाएगा।

क्या था पूरा मामला

जी हां, दरअसल हुआ ये था कि हाल ही में गुरुग्राम सेक्टर-37 में एक व्यक्ति ने अपनी दुकान के बाहर एक बैनर पर ‘हिन्दू भाई चिकन शॉप’ लिख दिया था अब जैसे ही किसी की नजर इस मीट शॉप पर पड़ी फिर तो लोग भड़क उठे जिसके बाद क्या था बस इतनी ही बात पर पूरा बवाल हो गया। असल में इस खबर के सामने आते ही संयुक्त हिन्दू संघर्ष समिति वालों ने उस व्यक्ति के दुकान के बाहर हंगामा शुरू कर दिया। मामला इतना ज्यादा बढ़ गया की बवाल के बाद मजबूरन दुकान के मालिक अपनी दुकान बंद कर वहां से फरार होना पड़ा, यभी उस भीड़ में से किसी ने इस इस पूरे मामले की सूचना सेक्टर-10 ए पुलिस को दे दी।

जैसे ही वहाँ की पुलिस को सूचना मिली पुलिस सहित एसडीएम वंहा पहुंच एक्शन का आश्वासन देते हुए आक्रोशित लोगों को किसी तरह शांत कराया। और फिर क्या था बात को बढ़ते देख पुलिस वालों ने बैनर को अपने कब्जे में ले लिया। वहीं इसके बाद भी लोगों का गुस्सा शांत नही हुआ तो लोगों ने दुकान मालिक को गिरफ्तार करने की मांग कर रहते रहे लेकिन, उसका पता नहीं चल पाया कि आखिर वो कहां गायब है। जानकारी के लिए बता दें की दुकानदार राजस्थान के कोटपुतली के रहनेवाला है।

फिलहाल इस बात का अभी तक पता नहीं चला है कि दुकानदार किस समुदाय से संबंध रखता है और यह भी नहीं पता चला है की इस तरह का नाम उसने किसी तरह का विवाद फैलाने के उद्येश्य से किया था या फिर ये उसकी खुद की सोच थी इसका अभी पता नहीं चल पाया है। हालांकि पुलिस द्वारा जब्त किए गए बोर्ड पर बाबूलाल नाम लिखा हुआ था। उस इलाके के वार्ड पार्षद ब्रह्म प्रकाश यादव ने भी इस मामले को लेकर पुलिस से मुलाकात की और दुकानदार के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। पार्षद की शिकायत पर पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेकर जांच शुरू कर दी है। पुलिस भी दुकानदार की तलाश में दबिश डाल रही है और फिलहला इस पूरे बवाल के बाद मीट की दुकान पर ताला लगा दिया गया है ताकि दुबारा से किसी तरह का कोई बवाल या हिंसा की कोई भी घटना ना होने पाये।