महात्मा गांधी की 149वीं जयंती पर पढ़िए उनके प्रेरणादायक 20 अनमोल विचार

2 अक्टूबर, 1869 को गुजरात के पोरबंदर में जन्में मोहनदास करमचंद्र गांधी जिन्हें लोग महात्मा गांधी या राष्ट्रपिता भी कहते हैं. उन्होंने अपने अहिंसात्मक स्वभाव से देश के कई बड़े फैसले किये और देश को आजादी दिलवाने में मुख्य भूमिका भी निभाई. तमाम सरकारी विभागों में आपने गांधी जी की तस्वीरें देखी होंगी लेकिन 2 अक्टूबर का दिन उनके लिए एक सरकारी छुट्टी मात्र है और कुछ नहीं है. वे लोग अगर गांधी जी के एक भी आदर्श को मान लें तो आम जनता सरकारी विभाग जाने में कतराएं नहीं. महात्मा गांधी की जयंती को इस साल 149 साल हो जाएंगे लेकिन देश में बहुत कम लोग हैं जो उनके आदर्शों को मानकर देश के हित में सोचता हो और अगर कोई पहल करता है तो उसे देश का चापलूस और फेकू कहकर उसे नेगलेक्ट कर दिया जाता है. महात्मा गांधी के प्रेरणादायक 20 अनमोल विचार, इन्हें अपने जीवन में उतारिये और जीवन में आगे बढ़िए.

महात्मा गांधी के प्रेरणादायक 20 अनमोल विचार

महात्मा गांधी का नाम शायद ही दुनिया में किसी ने नहीं सुना होगा. वे अमेरिका, रूस, इंग्लैंड, ब्रिटेन और चीन सभी देश महात्मा गांधी के बारे में जानते और पढ़ते हैं. भारतीय मुद्रा पर महात्मा गांधीकी मुस्कुराती तस्वीर है, ऐसा इसलिए कि महात्मा गांधी आजादी के लिए जेल भी गए, लाठियां भी खाईं और अनशन भी किया. वे शांतिप्रिय व्यक्ति थे और वैसे ही लोगों को पसंद करते थे. उनके जीवन की कुछ प्ररणादायक बातें हैं जिसे हर किसी को अपने जीवन में उतार लेना चाहिए.

1. आंख के बदले आंख पूरे संसार को ही अंधा बना देगी.

2. ख़ुद में वो बदलाव लाएं जो आप दुनिया में देखना चाहती है.

3. जब तक गलती करने की आज़ादी ना हो तब तक आज़ादी का कोई मतलब नहीं है.

4. असहनीयता और क्रोध को अपना दुश्मन समझकर उनसे दूर रहिये.

5. मेरा जीवन मेरा संदेश है.

6. यहां प्रेम होगा वहां जीवन होगा.

7. इस तरह जियो कि तुम कल मरने वाले हो और ऐसे सीखो जैसे तुम हमेशा जीने वाले हो.

8. परमात्मा का कोई धर्म नहीं है.

9. पाप से घृणा करो लेकिन पापी से प्यार क्योंकि प्यार ही जिससे आप पापी से पाप करना छुड़वा सकते हैं.

10. मेरी अनुमति के बगैर कोई भी मुझे पीड़ा नहीं पहुंचा सकता.

11. खुद को जानने का सबसे सर्वश्रेष्ठ तरीका है खुद को दूसरों की सेवा में डुबो देना.

12. जो आप आज करते हैं उस पर भविष्य निर्भर होता है.

13. मानवता में विशवास ना खोएं मानवता तो सागर की तरह होती है अगर सागर की कुछ बूंदे गंदी होती हैं तो सागर गंदा नहीं हो जाता.

14. किसी भी देश की महानता इस बात से आंकी जाती है कि वहां पर जानवरों के साथ कैसा व्यवहार किया जाता है.

15. किसी चीज़ में यकीन करना और बाद में उसे ना करना एक तरह से बेईमानी होती है.

16. अगर आपका सामना किसी विरोधी से हो तो उसे प्रेम से जीतने की कोशिश करें.

17. जीवन की गति की सीमा बढ़ाने के इलावा भी इसमें बहुत कुछ है.

18. सत्य एक है परन्तु मार्ग बहुत ज्यादा.

19. किसी भी काम को प्रेम से करें वरना उस काम को मना कर दें.

20. शान्ति का कोई दूसरा रास्ता नहीं होता उसका साथ बस शांति ही देती है.