माओवादी विचारकों की गिरफ़्तारी के मामले में अमित शाह ने लगाया राहुल गांधी पर गम्भीर आरोप

नई दिल्ली: कई दिनों से राहुल गांधी भाजपा के ऊपर जमकर हमला बोले हुए हैं। कांग्रेस के पास इस समय भाजपा की राफ़ेल डील वाली कमी दिखाई देती है। वहीं भाजपा भी किसी से कम नहीं है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर एक बार फिर से ज़ोरदार हमला बोला है। उन्होंने एक के बाद एक ट्वीट करके कांग्रेस की बोलती बंद कर दी और राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा। एक ट्वीट में उन्होंने लिखा, बेवक़ूफ़ियों के लिए सिर्फ़ एक स्थान रह गया है वो है कांग्रेस।

राजनीतिक फ़ायदे के लिए रख दिया राष्ट्रीय सुरक्षा को ताक पर:

आपको जानकर हैरानी होगी कि अमित शाह ने कांग्रेस के ऊपर, ‘भारत के टुकड़े-टुकड़े गैंग’, माओवादी, फ़ेक एक्टिविस्ट और भ्रष्ट तत्वों का समर्थन करने का आरोप लगाया है। यही नहीं, अमित शाह ने कहा कि जो लोग भी ईमानदार और काम करने वाले लोगों को बदनाम करते हैं कांग्रेस और राहुल गांधी उनका स्वागत करती है। अमित शाह ने अपना हमला कांग्रेस पर तेज़ करते हुए कहा कि अपने राजनीतिक फ़ायदे के लिए राष्ट्रीय सुरक्षा को ताक पर रख देते हैं, उनको आज सुप्रीम कोर्ट के निर्णय ने एक्सपोज़ कर दिया।

आपकी जानकारी के लिए बता दें भीमा कोरेगाँव हिंसा मामले में नक्सलियों से सम्बंध के आरोप में नज़रबंद विचारकों की हिरासत और चार हप्ते के लिए बढ़ा दी है। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने एसआईटी का गठन करने की माँग को ठुकराते हुए पुणे पुलिस से ही आगे की जाँच जारी रखने का आदेश दिया है। बता दें भीमा कोरेंगाँव हिंसा मामले में महाराष्ट्र पुलिस ने पाँच वामपंथी विचारकों वरवर राव, अर्जुन फरेरा, वरनोन गोंजालविस, सुधा भारद्वाज और गौतम नवलखा को अलग-अलग शहरों से गिरफ़्तार किया था। अदालत के आदेश के बाद अभी सभी अपने-अपने घरों में नज़रबंद हैं।

प्रेस कॉन्फ़्रेन्स बुलाकर साधा कांग्रेस पर निशाना:

बता दें इनके उपर नक्सलियों से सम्बंध रखने का आरोप है। भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि भारत एक अद्भुत लोकतांत्रिक देश है। यहाँ वाद-विवाद, विचार-विमर्श और मतभेद रखने की संस्कृति है। हालाँकि देश के लोगों को नुक़सान पहुँचाने के इरादे से देश के ख़िलाफ़ जानें वाला कोई काम इसके तहत नहीं आता है। इस मामले का जिन भी लोगों ने रजनीतिकरण किया है, उन्हें देश से माफ़ी माँगनी चाहिए। सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला आने के बाद काफ़ी दिनों से कांग्रेस से खार खाई भाजपा ने प्रेस कॉन्फ़्रेन्स बुलाकर कांग्रेस पर निशाना साधा।

भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से साफ़ हो गया है कि माओवादी लिंक में विचारकों की गिरफ़्तारी की वजह राजनीतिक असहमति नहीं थी। उन्होंने कहा कि पूरी कांग्रेस का एक ही मत था कि सरकार से असहमति जताने वालों को गिरफ़्तार किया जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने इस बात को ख़ारिज कर दिया है। पात्रा ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला कांग्रेस पार्टी की हार है। राहुल गांधी को इस फ़ैसले के बाद शर्म से सिर झुका लेना चाहिए। राहुल गांधी अपनी राजनीति को परवान चढ़ाने के लिए देश की सुरक्षा को ताक पर रख रहे हैं।